राइस मिल हटाने भूख हड़ताल पर बैठे शेखर

रवि सेन

बागबाहरा।

नगर के बीचोबीच वार्ड क्रमांक 5 पर स्थित शारदा राइसमिल है । राइसमिल से निकलने वाले काले राखड़ , डस्ट एवम बफाई पानी के दुर्गंध से वार्डवासी परेशान है। डस्ट एवम काले राखड़ की वजह से वार्डवासी कई प्रकार की बीमारियों से ग्रसित है वही वार्डवासी राखड़ की वजह से घरों के बाहर निकलने एवम समान रखने से भी कतराते है।

शारदा राइसमिल की शिकायत वार्ड वासियो द्वारा लगातार उच्च अधिकारियों से की जा रही थी लेकिन अब तक कोई ठोस कार्यवाही नही होने के चलते वार्ड क्रमांक 5 निवासी शेखर चन्द्राकर आज सुबह 10 से शारदा राइसमिल के सामने भूख हड़ताल पर बैठे है।

सप्ताह भर पहले अधिकारियों की दी गई जानकारी

शेखर चन्द्राकर ने बताया कि मेरे द्वारा 15 जनवरी 2019 को सीएमओ बागबाहरा , एसडीएम बागबाहरा, पुलिस अधीक्षक महासमुन्द , कलेक्टर महासमुन्द एवम पर्यावरण संरक्षण मंडल रायपुर में लिखित जानकारी दी गई है ।

बीमार व्यक्ति बैठा भूख हड़ताल पर

शेखर चन्द्राकर का कहना है कि मेरे वार्ड में लगभग 1500 लोग निवासरत है । शारदा राइसमिल के संचालक को अनेकोबार निवेदन पर भी हम सभी वार्डवासियों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ करना नही छोड़ रहा है ।
मैं स्वयं दमा एवम सुगर (मधुमेह) का मरीज हु लेकिन आज इस शारदा राइसमिल के खिलाफ भूख हड़ताल पर बैठा हु ताकि यह समस्या नगर से जड़ से खत्म हो जाये ।

भूख हड़ताल में नहीं बैठने कर रहे प्रताड़ित

शेखर चन्द्राकर ने बताया कि आज सुबह भूख हड़ताल के लिए शारदा राइसमिल के सामने टेंट लगाने के लिए राइसमिलर्स द्वारा मना किया गया वही एक ट्रांसपोर्टर के ट्रक को भी धरना स्थल पर खड़ा कर दिया गया था ताकि ये भूख हड़ताल न हो सके वही राइसमिल के कुछ लोग धमकाने के लिए भी पहुच गए थे ।

अधिकारी नही ले रहे सुध

वार्डवासियों की शिकायत एवम लगातार समाचार पत्रों में प्रकाशन के बाद भी अब तक राइसमिल पर किसी प्रकार की कार्यवाही नही होना अधिकारीयो की सुस्त रवैये को दर्शाता है।

1
Back to top button