शिक्षाकर्मी संघ में दो फाड़, मूल्यांकन बहिष्कार से अपने को अलग किया छत्तीसगढ़ शिक्षक महासंघ ने

रायपुर : छत्तीसगढ़ शिक्षक महासंघ ने परीक्षा के मूल्यांकन कार्य का बहिष्कार नहीं करने का फैसला लिया है। छत्तीसगढ़ शिक्षक महासंघ के प्रांतीय प्रवक्ता रामपाल सिंह ने कहा है कि बोर्ड परीक्षाओं के बाद उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन के बहिष्कार में छत्तीसगढ़ शिक्षक महासंघ के सदस्य भाग नही लेंगे। उन्होंने कहा कि सभी संगठनों की अपनी विचारधारा, उद्देश्य एवं कार्यशैली होती है। छात्रों के हित को ध्यान में न रखते हुए मूल्यांकन का बहिष्कार कर अपनी अवसरवादिता का प्रदर्शन अपने अस्तित्व को बचाये रखने एवं चर्चा में बने रहने के लिए इस तरह के हथकंडे अपनाना दूसरे संगठनों की कार्यशैली हो सकती है, पर हमारी नही।

रामपाल सिंह ने कहा कि हमारे संगठन का निर्माण ही राष्ट्रहित, छात्रहित एवं शिक्षाहित जैसे मूल उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए हुई है। ऐसा भी नहीं है कि हम शासन के समक्ष अपनी जायज मांगों के लिए विरोध प्रदर्शन नहीं करेंगे, विरोध करेंगे पर पालकों को विश्वास में लेकर सकारात्मक तरीके से। महासंघ के सभी शिक्षक साथी अन्य शिक्षक संगठन द्वारा घोषित मूल्यांकन बहिष्कार का विरोध करता है और छात्रहित को ध्यान में रखते हुवे मूल्यांकन कार्य करने का निर्णय लेता है।

advt
Back to top button