राष्ट्रीय

शिमला: आवारा कुत्तों को गोद लेने वाले लोगों को नगर निगम करेगा सम्मनित

कूड़ा शुल्क माफ के साथ येलो लाइन पार्किंग भी मिलेगा मुफ्त

नई दिल्‍ली: शिमला शहर में 2500 आवारा कुत्ते हैं और शहर में कुत्तों द्वारा काटे जाने के करीब एक हजार मामले सामने आए हैं. शहर में जगह-जगह कुत्ते झुंड बना के घूमते है और कई बार लोगों पर झपट पड़ते है. ऐसे में जहां लोग कुत्तों को गोद लेंगे.

वहीं, दूसरी ओर शहर में कुत्तों की संख्या भी कम होगी और कुत्तों को गोद लेने वालों को निगम सुविधाओ में रियायत भी दे रहा है. इसके तहत राजधानी में आवारा कुतों को गोद लेने वाले लोगों को नगर निगम सम्मनित करेगा.

इसके साथ ही नगर निगम ऐसे लोगों का कूड़ा शुल्क माफ करने के साथ ही उन्‍हें येलो लाइन पार्किंग भी मुफ्त में देगा. इससे पहले शिमला नगर निगम ऐसे लोगों को कूड़ा शुल्क में 50 फीसदी ही छूट दे रहा था. इसी कड़ी में 15 लोगों ने आवारा कुत्तों को गोद लेने के लिए आवेदन किया है.

कुत्ता गोद लेने के बाद नगर निगम टोकन के साथ कुतो के कान में टैगिंग भी करेगा, जिसमें पूरी जानकारी होगी और नगर निगम भी आसानी से उन्‍हें ट्रेस कर सकेगा. निगम ने समाजसेवी संस्थाओं से भी कुतों को गोद लेने का आह्वान किया है.

Tags
Back to top button