पथराव में राजधानी एक्सप्रेस का शीशा चकनाचूर

अंकित मिंज

बिलासपुर

बिलासपुर राजधानी एक्सप्रेस के एक कोच का शीशा पत्थरबाजी के कारण चकनाचूर हो गया। हालांकि उसके पीछे दूसरा शीशा होने के कारण पत्थर कोच के अंदर नहीं घुसा। घटना में किसी को चोट तो नहीं आई लेकिन यात्री काफी घबरा गए थे।

ट्रेन रविवार की सुबह बिलासपुर रेलवे स्टेशन पहुंची और प्लेटफार्म एक पर आकर खड़ी हुई। ए- 5 कोच के सामने यात्रियों की भीड़ जमा हो गई। पूछने पर उन्होंने खिड़की की ओर इशारा करते हुए बताया कि पत्थरबाजी के कारण ये हाल हो गया है।

यात्रियों का कहना था कि घटना शनिवार की शाम पांच से छह बजे के बीच की है। अचानक खिड़की की तरफ जोर से आवाज आई। इससे यात्री हड़बड़ा गए। उस समय ट्रेन आगरा स्टेशन से गुजर रही थी। बाद में पता चला कि किसी ने पत्थर मारा है।

कोहरे व ब्लॉक के कारण कुछ ट्रेनें रद

ट्रेन के कुछ कर्मचारियों का कहना है कि कोहरे व ब्लॉक के कारण कुछ ट्रेनें रद कर दी गई हैं। इनमें लोकल ट्रेनें भी शामिल हैं। इससे दैनिक यात्रियों में भारी आक्रोश है।

शायद यात्रियों की भीड़ में से ही किसी ने पथराव किया होगा। बिलासपुर में आरपीएफ को इस घटना की जानकारी नहीं थी। लेकिन यात्रियों का कहना है कि आगरा में इसकी सूचना दी गई थी।

शीशे टूटने की यह पहली घटना नहीं

यदि दूसरा शीशा भी पत्थर से क्षतिग्रस्त हो जाता तो किसी को चोट आ सकती थी । पहले आए दिन होती थी घटना राजधानी एक्सप्रेस में पथराव या शीशे टूटने की यह पहली घटना नहीं है। पहले आए दिन पत्थरबाजी होती थी।

ट्रेन की ज्यादातर खिड़कियों के शीशे टूटे और उनमें टेप लगे होते थे। अभी कुछ दिनों से घटना में विराम लगा था। शनिवार की घटना काफी दिनों बाद हुई है।

new jindal advt tree advt
Back to top button