शिवसेना ने एक बार फिर साधा मोदी सरकार पर निशाना, ईवीएम की इससे की तुलना

नई दिल्ली: शिवसेना ने एक बार फिर मोदी सरकार पर हमला किया है. इस बार पार्टी ने मोदी सरकार पर चुनाव के दौरान धांधली करने का आरोप लगाया है. शिवसेना ने बुधवार को कहा कि आज के समय में बीजेपी ने चुनाव आयोग और लोकतंत्र को अपना रखैल बना लिया है.

गौरतलब है कि शिवसेना ने उपचुनावों के दौरान ईवीएम और वीवीपैट मशीनों में आयी खराबी को लेकर सवाल खड़े किए थे. शिवसेना ने बुधवार को कहा केंद्र सरकार और बीजेपी अपने फैयदे के लिए ईवीएम को खराब करती है और उसका गलत तरीके से इस्तेमाल करती है. शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के संपादकीय के जरिए चेतावनी दी है कि जिस चुनावी प्रक्रिया से लोगों का विश्वास उठ गया है वह प्रक्रिया लोकतंत्र के लिए घातक है.

इस लेख में लिखा है कि हिंदुस्तान दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है , ऐसा डंका पीटने का अब कोई अर्थ नहीं रह गया है. ईवीएम ने हमारे लोकतंत्र की धज्जियां उड़ा दी हैं. वर्तमान तानाशाही , भीड़तंत्र की प्रवृत्ति वाले सत्ताधारियों ने लोकतंत्र को खुद की रखैल बना रखा है. शिवसेना ने आरोप लगाया कि भाजपा वालों ने ईवीएम को भ्रष्ट कर खुद के लिए इस्तेमाल की गई मशीनरी बना लिया है. इसलिए चुनाव और चुनाव आयोग का मतलब पीला हाउस के जंग लगी कोठियों की तवायफ बन गया है. महाराष्ट्र के भंडारा – गोंदिया और पालघर लोकसभा उपचुनाव के दौरान ईवीएम और वीवीपैट मशीनों में आयी तकनीकी खराबी की शिकायतों का हवाला देते हुए शिवसेना ने कहा कि इसे क्या कहें ? ईवीएम की मनमानी पर या मेहरबानी पर हमारी चुनावी मशीनरी सांस ले रही है.

लोकतंत्र में एक – एक वोट का मोल है. लेकिन हजारों मतदाता घंटों लाइन में खड़े होने के बाद बोर होकर मतदान केन्द्र से वापस लौट जाते हैं. सामना ने लिखा है कि वर्तमान चुनाव आयोग और उनकी मशीनरी सत्ताधारियों की चाटुकार बन गई है. इसलिए वे चुनाव में किये जाने वाले शराब के वितरण , पैसे के वितरण , सत्ताधरियों की तानाशाही , धमकी भरे भाषणों के खिलाफ शिकायत लेने को तैयार नहीं हैं.

new jindal advt tree advt
Back to top button