शिवसेना विधायक दल की बैठक खत्म, आदित्य ठाकरे नहीं, एकनाथ शिंदे बने नेता

मुंबई. महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव के नतीजे आए एक हफ्ते हो चुके हैं लेकिन सत्ता के लिए रस्साकशी अब तक जारी है। बीजेपी और शिवसेना के बीच अभी 50-50 फॉर्म्युले पर मामला अटका हुआ है। इस बीच शिवसेना विधायक दल की बैठक में एकनाथ शिंदे को नेता चुन लिया गया है। इसके लिए आदित्य ठाकरे ने ही प्रस्ताव रखा था, जिस पर शिवसेना के सभी 56 विधायकों ने अपनी सहमति दी। हालांकि इसका मतलब यह नहीं है कि आदित्य ठाकरे के सीएम बनने की संभावना खत्म हो गई है। एकनाथ को नेता बनाने के बाद भी शिवसेना आदित्य ठाकरे को सीएम के लिए आगे कर सकती है। वहीं, सुनील प्रभु को सदन में पार्टी का चीफ विप बनाया गया है। सभी विधायक आज ही राज्यपाल से मुलाकात करने वाले हैं। ऐसे में सियासी गहमागहमी बढ़ गई है।

शिवसेना लाओ.. महाराष्ट्र बचाओ… बैंक बचाओ

सूत्रों के मुताबिक शिवसेना की बैठक में बीजेपी के उपमुख्यमंत्री पद वाले ऑफर पर चर्चा नहीं हुई। खबर है कि बीजेपी ने शिवसेना को उपमुख्यमंत्री पद के साथ 13 मंत्री पद देने का फैसला किया है। बीजेपी सूत्रों की मानें फडणवीस खुद शिवसेना प्रमुख से इस पर बात कर सकते हैं। बीजेपी ने जो प्रस्ताव तैयार किया है, उसके तहत वह 26 मंत्री पद अपने पास रखेगी और 13 शिवसेना को देगी। बीजेपी राजस्‍व, वित्‍त, गृह और नगर विकास जैसे अहम मंत्रालय अपने पास रख सकती है। कितने कैबिनेट स्‍तर के होंगे, यह बातचीत के बाद तय होगा।

Back to top button