‘शिव’ के राज में दो रुपये प्रति किलो मिलेगा प्याज

भोपाल. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में कृषि केबिनेट की बैठक मंत्रालय में हुई. बैठक में निर्णय लिया गया कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत उचित मूल्य की दुकानों से बीपीएल के साथ ही अब एपीएल राशन कार्ड धारक को भी दो रुपये प्रति किलोग्राम की दर से प्याज मिलेगी.

एक राशन कार्ड पर अधिकतम 50 किलोग्राम प्याज खरीदी जा सकेगी. प्याज का भंडारण समर्थन मूल्य खरीदी केन्द्र के निकट ही किया जायेगा. किसानों के हित के लिये की जा रही प्याज खरीदी में गड़बड़ी और दुरुपयोग पाये जाने पर दोषी व्यक्तियों के विरुद्ध अपराधिक प्रकरण दर्ज कर कठोरतम कार्रवाई की जायेगी.

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश की सरकार ने किसानों के हित में अनेक ऐतिहासिक निर्णय लिये हैं. उन्होंने स्पष्ट निर्देश दिये कि प्याज एवं समर्थन मूल्य पर दलहनों की खरीदी पर किसानों को कोई असुविधा नहीं होनी चाहिए.

उन्होंने कहा कि किसानों को उनकी उपज का वाजिब दाम दिलाने के लिये प्याज 8 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से खरीदा जा रहा है. इसी तरह प्रदेश में समर्थन मूल्य पर मूंग खरीदी होने से किसानों को बाजार मूल्य से प्रति क्विंटल लगभग 1500 रुपये अधिक मिल रहा है. उन्होंने कहा कि प्याज का स्थानीय स्तर पर भंडारण किया जाये. सार्वजनिक वितरण प्रणाली अंतर्गत तीन माह के गेहूँ का उठाव एक साथ करवाया जाये. उन्होंने प्याज की अंधाधुंध बोवनी के विषय में भी किसानों को जागरूक किये जाने की जरूरत बतायी. मुख्यमंत्री ने बाजार की संभावनाओं के आधार पर किसानों को सलाह देने के लिये रणनीति बनाने के निर्देश दिये.

मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश में प्याज खरीदी का कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है. अभी तक किसानों से 2 लाख 75 हजार मीट्रिक टन प्याज खरीदा जा चुका है. प्याज खरीदी 30 जून तक होगी. इसी तरह समर्थन मूल्य पर अरहर 49 केन्द्रों के माध्यम से 31 हजार 700 क्विंटल, मूंग 62 केन्द्रों पर 48 हजार 747 क्विंटल, उड़द 38 केन्द्रों पर 13 हजार 669 क्विंटल एवं 20 केन्द्रों के माध्यम से 915 क्विंटल मसूर की खरीदी की जा चुकी है.

कृषि केबिनेट में वित्त एवं वाणिज्यिक कर मंत्री जयंत कुमार मलैया, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री गोपाल भार्गव, वन, योजना आर्थिक-सांख्यिकी मंत्री डॉ. गौरीशंकर शेजवार, जल-संसाधन मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, स्कूल शिक्षा मंत्री कुंवर विजय शाह, किसान-कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री गौरीशंकर बिसेन, राजस्व, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री उमाशंकर गुप्ता, पशुपालन, मछुआ-कल्याण और ग्रामोद्योग मंत्री अंतरसिंह आर्य, नर्मदा घाटी विकास और सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) लालसिंह आर्य, संस्कृति और पर्यटन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) सुरेन्द्र पटवा, सहकारिता, गैस त्रासदी राहत एवं पुनर्वास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) विश्वास सारंग और मुख्य सचिव बी.पी. सिंह सहित संबंधित विभागों के अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव और सचिव उपस्थित थे.

Back to top button