शिवराज सिंह चौहान बोले- MP में कांग्रेस की लगड़ी सरकार, जानें कब गिर जाए

नई दिल्ली।

दिल्ली के रामलीला मैदान में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के युवा मोर्चा की विजय संकल्प रैली में मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने कांग्रेस (Congress) पर जमकर हमला बोला। शिवराज सिंह ने कहा कि मध्य प्रदेश का चुनाव अजीब हुआ है। चुनावों में वोट बीजेपी को ज्यादा मिला लेकिन पांच सीटें कांग्रेस को ज्यादा मिली। लोकसभा के हिसाब से देखा जाए तो 17 सीटों पर बीजेपी और 12 पर कांग्रेस आगे है। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश में सरकार कांग्रेस की बनी है पर वह लंगडी है और ना जानें कब गिर जाए।

शिवराज ने कहा, लगड़ी सरकार तो हम भी बना लेते लेकिन अब सरकार तो बनाएंगे वो भी शानदार बहुमत वाली सरकार। उन्होंने कहा कि मैं वचन देता हूं कि पिछले लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने 39 में से 27 जीती थी और नरेंद्र मोदी को पीएम बनाया था। इन चुनाव में हार के बाद मामा कमजोर नहीं हुआ है और 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को 27 जीताएंगे और कोशिश होगी कि 29 सीटें तक जीतें।

मोदी और बीजेपी के डर से सब एक हुए

शिवराज सिंह ने युवा मोर्चा को कहा कि वह संकल्प लें कि वह दिल्ली की सभी सातों सीटें बीजेपी को दिलाएंगे। इसके लिए वह लोगों के बीच जाएंगे और बीजेपी के कामों के बारे में बताएंगे। उन्होंने एक वाकिए का जिक्र करते हुए बताया कि एक बार बाढ़ आई तो पंडित जी जान बचाने के लिए पेड़ पर चढ़ गए।

अगले दिन जब हम सुबह पंडित जी को बचाने के लिए गए तो देखा का पंडित जी के साथ पेड़ पर सांप, बंदर और चीटियां भी थी लेकिन ना तो बंदर दांत किट-किटा रहा था और ना सांप फुपकार रहा था। इतना ही नहीं पंडित जी भी उन्हें भपका नहीं रहे थे। यह सब इसलिए हो रहा था क्योंकि नीचे बाढ़ का भयानक पानी था और इसकी वजह से सभी एक पेड़ पर बैठने को मजबूर थे। उन्होंने कहा कि कलकता की रैली में कुछ ऐसा था।

हाथ तो मिले नहीं दिल कैसे मिल पाएंगे

उन्होंने कहा है कि कलकत्ता में यह रैली पीएम मोदी और बीजेपी के डर की वजह से हो रही है। उन्होंने कहा कि दुल्हा अभी तय नहीं है। कोई कह रहा है कि राहुल गांधी पीएम मोदी बनेंगे, पश्चिम बंगाल में कोई कहता है ममता बनर्जी पीएम बनेंगी, यूपी से आवाज आती है मायावती तो कोई आंध्र प्रदेश से कहता है कि इस बार बाबू सरकार। इनके हाथ तो मिले नहीं दिल कैसे मिल पाएंगे।

महागठबंधन के दूल्हे का पता ही नहीं

शिवराज ने कहा कि जिस कांग्रेस को पानी पी-पीकर कोसते थे कल उन्हीं के साथ मंच पर नजर आए। उन्होंने कहा कि हमारा सेनापति तय है, लेकिन सामने वालों के सेनापति का पता नहीं है। बाराती आ गए, बैंडबाजे बज रहे हैं, आतिशबाजी हो रही है, घोडी भी आ गई है लेकिन घोड़ी पर बैठेगा कौन पता ही नहीं है। बिना दूल्हे की घोड़ी कितना आगे जाएगी पता नहीं। अगर चार-छह बैठ गए तो घोड़ी दुल्हन के पास पहुंचेगी भी या नहीं किसी का कोई ठिकान नहीं है।

advt
Back to top button