शिवराज का ट्वीट कर्म किसी का पीछा नहीं छोड़ता, कमलनाथ पर साधा निशाना!

विधानसभा चुनाव में हार के बाद मुख्यमंत्री पद गंवाने वाले शिवराज सिंह चौहान ने भी फैसले पर प्रतिक्रिया दी। उन्होंने ट्वीट किया, कर्म किसी का पीछा नहीं छोड़ता..।

हालांकि शिवराज ने किसी का नाम नहीं लिखा, लेकिन माना जा रहा है कि उनका इशारा कमलनाथ की ओर है। 1984 के सिख विरोधी दंगों के मामले में दिल्ली हाईकोर्ट द्वारा कांग्रेस नेता सज्जन कुमार को दोषी ठहराए जाने के बाद अब भाजपा ने कांग्रेस पर निशाना साधा है।

इन्हीं दंगों में कमलनाथ का नाम भी लिया जाता रहा है, जिन्होंने सोमवार को मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। इसके बाद भाजपा नेताओं ने कमलनाथ पर भी निशाना साधा।

भाजपा नेता अरुण जेटली ने कोर्ट के फैसले को लेकर कहा है कि दिल्ली हाईकोर्ट का यह फैसला स्वागत योग्य है। हम में से कई लोग इसके गवाह है कि इससे बर्बर नरसंहार नहीं हो सकता। उस दौरान कांग्रेस सरकार चीजों को ढंकने में लगी हुई थी।

जेटली आगे बोले कि यह सारे कवरअप अब हार चुके हैं। सज्जन कुमार 1984 सिख दंगे के सिंबॉल रहे हैं। सिख दंगों की यह लिगेसी कांग्रेस और गांधी परिवार के गले से लटक रही है।

जेटली ने इस दौरान इशारों में मध्यप्रदेश में कांग्रेस नेता कमलनाथ पर भी निशाना साधा। जेटली बोले कि ये विडंबना है कि यह फैसला उस दिन आया है जब सिख समाज जिस दूसरे नेता को दोषी मानता है, कांग्रेस उसे मुख्यमंत्री पद की शपथ दिला रही है।

केंद्रीय मंत्री और शिअद नेता हरसिमरत कौर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कांग्रेस पर हमला बोला साथ ही पीएम मोदी का धन्यवाद भी दिया।

उन्होंने कहा कि मैं प्रधानमंत्री मोदी को धन्यवाद कहती हूं जिन्होंने शिरोमणि अकाली दल के अनुरोध पर सिख दंगों की जांच के लिए 2015 में एसआईटी का गठन किया। यह फैसला एतिहासिक है, आखिरकार इंसाफ का पहिया चल ही पड़ा है।

सिख-विरोधी दंगों में कांग्रेस नेता सज्जन कुमार को दोषी करार दिए जाने पर केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने कहा, “आज सज्जन कुमार हैं, कल जगदीश टाइटलर होंगे, फिर कमलनाथ और आखिरकार गांधी परिवार…”

new jindal advt tree advt
Back to top button