रैली के दौरान असदुद्दीन ओवैसी पर फेंका गया जूता

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) को घेरते हुए ओवैसी ने कहा कि वह मौत से नहीं डरते हैं

रैली के दौरान असदुद्दीन ओवैसी पर फेंका गया जूता

दक्षिण मुंबई के नागपाड़ा इलाके में एक रैली को संबोधित करने के दौरान एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी पर मंगलवार रात एक शख्स ने जूता फेंक दिया। पुलिस ने बताया कि इस घटना में सांसद को जूता नहीं लगा। आरोपी की पहचान कर ली गई है और उसे जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

पुलिस उपायुक्त विरेंद्र मिश्र ने बताया कि मंगलवार रात करीब पौने दस बजे ओवैसी तीन तलाक के मुद्दे के खिलाफ बोल रहे थे, तभी यह घटना हो गई।

‘जान देने को हूं तैयार’
इस बीच ओवैसी ने कहा, ‘मैं अपने लोकतांत्रिक अधिकार के लिए अपनी जान देने को तैयार हूं। ये सभी निराश लोग हैं, जो यह नहीं देख सकते हैं कि तीन तलाक पर सरकार का फैसला जनता खासतौर पर मुसलमानों ने स्वीकार नहीं किया है।’

[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”अगर आप पढ़ना नहीं
चाहते तो क्लिक करे और सुने”]

उन्होंने कहा, ‘ये लोग (जूता फेंकने वाले के संदर्भ में) उन लोगों में से हैं जो महात्मा गांधी, गोविंद पानसरे और नरेंद्र डाभोलकर के हत्यारों की विचारधारा का अनुसरण करते हैं। ये लोग हमें उनके खिलाफ सच बोलने से नहीं रोक सकते हैं।’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) को घेरते हुए ओवैसी ने कहा कि वह मौत से नहीं डरते हैं। सच्चाई तो यह है कि आरएसएस ‘मुस्लिम मुक्त’ भारत चाहता है। तीन तलाक विधयेक से मुस्लिम महिलाओं का दर्द कम नहीं होगा, बल्कि उनकी मुश्किलें बढ़ेंगी। तंज कसते हुए ओवैसी ने कहा, ‘लोग मुझसे पूछते हैं कि आपकी कितनी पत्नियां हैं, मैं कहता हूं, एक है और वह घर में रहती है।’

पुलिस अधिकारी विरेंद्र मिश्र ने बताया कि पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के जरिए ओवैसी पर जूता फेंकने वाले व्यक्ति की पहचान कर ली है। उसे गिरफ्तार करने की प्रक्रिया चल रही है।

1
Back to top button