श्रद्धा महिला मण्डल जगन्नाथ मंदिर में पूजा-अर्चना कर निःसहायों को खाद्य सामग्री वितरित किए

बिलासपुर: ’’परहित सरस धर्म नहीं भाई ।- रामचरित मानस की इस चौपाई अर्थात परोपकार से बढ़कर कोई उत्तम कर्म नहीं । परोपकार की भावना ही वास्तव में मनुष्य को ’मनुष्य’ बनाती है। कभी किसी भूखे व्यक्ति को खाना खिलाते समय चेहरे पर व्याप्त सन्तुष्टि के भाव से जिस असीम आनन्द की प्राप्ति होती है वह अवर्णनीय है। किसी वास्तविक अभावग्रस्त व्यक्ति की निःस्वार्थ भाव से अभाव की पूर्ति करने के बाद जो सन्तुष्टि प्राप्त होती है, वह अकथनीय है।

परोपकार से मानव के व्यक्तित्व का विकास होता। कुछ ऐसे ही सुंदर भाव के साथ, धार्मिक कार्य व निःसहायों की सेवा हेतु श्रद्धा महिला मण्डल की अध्यक्षा श्रीमती पुष्पिता पण्डा, उपाध्यक्षा श्रीमती संगीता शर्मा, श्रीमती पिंकी प्रसाद, श्रीमती कल्पना चौधरी व श्रीमती रीता पाल एवं अन्य सभी सदस्याएँ दिनांक 11.11.2021 को रेल्वे स्टेशन बिलासपुर समीप जगन्नाथ मंदिर पहुँची एवं मंदिर में पूजा-अर्चना की।

पूजा के बाद श्रद्धा महिला मण्डल की टीम अपनी अध्यक्षा श्रीमती पुष्पिता पण्डा की अगुआई में मंदिर में भोग-प्रसाद बनाने के लिए दो गंज ढक्कन सहित भेंट की, साथ में भजन कीर्तन के लिए दो दरी भी प्रदान किए। सेवा भाव की परम्परा को आगे बढ़ाते हुए श्रद्धा महिला मण्डल की पदाधिकारियों ने मंदिर के बाहर बैठे निःसहायजनो को फल, मिठाइयाँ, नमकीन व अन्य खाद्य सामग्री वितरित किए।

इस अवसर पर श्रद्धा महिला मण्डल की अध्यक्षा, उपाध्यक्षागण सहित सचिव (कल्याण) श्रीमती संगीता कापरी, सचिव बबीता गुप्ता, श्रीमती डोलन डे, श्रीमती शालू साहू व अन्य सदस्याएँ बड़ी संख्या में उपस्थित रहीं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button