छत्तीसगढ़

श्री नारायणा अस्पताल रखेगा अप्रवासीय भारतीयों के परिवारों के स्वास्थ्य का ख्याल

अमरीका में बसे अप्रवासीय भारतीयों को अब छत्तीसगढ़ में निवासरत उनके परिवार के स्वास्थ्य की चिंता करने की जरूरत नहीं

रायपुर/शिकागो (नार्थ अमरीका) : नार्थ अमरीका में रह रहे छत्तीसगढ़ के लोगों के द्वारा नार्थ अमरीका छत्तीसगढ़ एसोसिएशन (नाचा) नाम से एक संगठन बनाया गया है। संगठन के अध्यक्ष गणेश कर के अनुसार नाचा का उद्देश्य नार्थ अमरीका में रह रहे छत्तीसगढ़ के अप्रवासीय भारतीय लोगों और छत्तीसगढ़ में रह रहे उनके परिवार के सदस्यों की हर संभव मदद करना और छत्तीसगढ़ के विकास में अपना हर संभव योगदान देना है। नाचा द्वारा किये जा रहे कार्यों को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी द्वारा भी सराहा गया है।

अमरीका में बसे छत्तीसगढ़ के अप्रवासीय भारतीयों को अब छत्तीसगढ़ में रह रहे उनके परिवार के सदस्यों के स्वास्थ्य की चिंता करने की जरुरत नहीं है क्योंकि उनके स्वास्थ्य का ख्याल रखने के लिए नार्थ अमरीका छत्तीसगढ़ एसोसिएशन और श्री नारायणा हॉस्पिटल, देवेंद्र नगर रायपुर के बीच अनुबंध हो गया है। श्री नारायणा हॉस्पिटल के महाप्रबंधक अतुल सिंघानिया ने बताया कि श्री नारायणा हॉस्पिटल के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ सुनील खेमका और नाचा के अध्यक्ष गणेश कर ने संयुक्त रूप से दोनों संस्थाओं के बीच अनुबंध किया है जिसके तहत अस्पताल द्वारा नाचा के सदस्यों और छत्तीसगढ़ में रह रहे उनके पूरे परिवार का विशेष दरों पर बेहतर से बेहतर ईलाज किया जाएगा। साथ ही अस्पताल द्वारा नाचा के सदस्यों और उनके परिवारों की हरसंभव मदद की जायेगी।

नाचा के अध्यक्ष गणेश कर ने बताया कि गत वर्ष अपने छत्तीसगढ़ प्रवास के दौरान अपने करीबी रिश्तेदार के उपचार के लिए वे श्री नारायणा अस्पताल आये थे। उन्हें अस्पताल में मौजूद सभी स्वास्थ्य सुविधाएं बहुत ही अच्छी लगी थीं और तभी उनके मन में ख्याल आया था कि क्यों न अमरीका में छत्तीसगढ़ के अप्रवासीय भारतीयों के लिए अस्पताल के साथ अनुबंध कर लिया जाए। नाचा के सदस्यों से विचार विमर्श कर उन्होंने अतुल सिंघानिया को इस आशय का प्रस्ताव भेजा।

गणेश कर ने कहा कि छत्तीसगढ़ से हज़ारों किलोमीटर दूर अमरीका में रह रहे छत्तीसगढ़ के लोगों को अक्सर छत्तीसगढ़ में बसे अपने पारिवारिक सदस्यों की चिंता सताती है। परिवार के समक्ष कोई चिकित्सकीय आपातकालीन स्थिति आने पर यह चिंता और गंभीर हो जाती है। कर ने कहा कि श्री नारायणा अस्पताल के साथ अनुबंध हो जाने पर अमरीका में बसा छत्तीसगढ़ का अप्रवासीय भारतीय समुदाय काफी खुश है क्योंकि उसे विश्वास है कि समुदाय के परिवार के सदस्यों का स्वास्थ्य अब सुरक्षित हाथों में है।

श्री नारायणा हॉस्पिटल के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ सुनील खेमका ने कहा कि उन्हें यह जानकार बेहद ख़ुशी हुई है कि नार्थ अमरीका में छत्तीसगढ़ की पहचान बनाने और विश्व के अलग अलग हिस्सों में रह रहे छत्तीसगढ़ के अप्रवासीय भारतीयों को एक दूसरे से जोड़ने के लिए नाचा द्वारा उत्कृष्ट कार्य किया जा रहा है। उन्होंने श्री नारायणा अस्पताल की ओर से नाचा परिवार को किसी भी समय हर संभव चिकित्सकीय मदद देने का आश्वासन दिया है।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *