घरेलू टूर्नामेंट्स में शानदार रहा है शुभमन का प्रदर्शन, जानें कुछ ख़ास बातें!

शुभमन गिल का जन्म 8 फरवरी 1999 को पंजाब के फजिल्का में किसान परिवार में हुआ।

पंजाब के युवा बल्लेबाज शुभमन गिल को घरेलू टूर्नामेंट्स में लगातार किए जा रहे शानदार प्रदर्शन का इनाम मिला जब उन्हें न्यूजीलैंड दौरे के लिए भारतीय टीम में शामिल किया गया।

विवादास्पद कमेंट्स के लिए निलंबित केएल राहुल की जगह ओपनर गिल को टीम इंडिया में मौका मिला।

अंडर-19 विश्व कप, भारत ए टीम और रणजी ट्रॉफी में धमाकेदार प्रदर्शन कर चुके इस युवा क्रिकेटर से अब फैंस को बड़े स्तर पर भी प्रभावी प्रदर्शन की उम्मीद रहेगी।

गिल के क्रिकेट करियर के सफर पर एक नजर…

शुभमन गिल का जन्म 8 फरवरी 1999 को पंजाब के फजिल्का में किसान परिवार में हुआ।

उनके पिता लखविंदर क्रिकेटर बनना चाहते थे लेकिन वो नहीं बन पाए तो उन्होंने बेटे शुभमन को क्रिकेटर बनाने में हरसंभव प्रयास किया। वो बेटे के करियर की खातिर मोहाली शिफ्ट हुए थे।

शुभमन ने पंजाब की तरफ से फरवरी 2017 में 17 साल की उम्र में विजय हजारे ट्रॉफी में विदर्भ के खिलाफ लिस्ट ए डेब्यू किया।

वे इस मैच में प्रभावी प्रदर्शन नहीं कर पाए लेकिन उन्होंने इसके बाद से शानदार प्रदर्शन किया।

गिल अभी तक 36 लिस्ट ए मैचों में 47.78 की औसत से 1529 रन बना चुके हैं। उन्होंने इसमें 4 शतक और 7 फिफ्टी लगाई हैं।

उन्होंने नवंबर 2017 में बंगाल के खिलाफ रणजी ट्रॉफी डेब्यू किया। वे 9 रणजी मैचों में 77.78 की औसत से 1089 रन बना चुके हैं। वे 3 शतक और 7 अर्द्धशतक लगा चुके हैं।

भारत ने 2018 में अंडर-19 विश्व कप जीता और शुभमन की इस जीत में अहम भूमिका रही और वे मैन ऑफ द टूर्नामेंट चुने गए।

न्यूजीलैंड में हुए इस विश्व कप में उन्होंने 372 रन बनाए। परंपरागत प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ शतक लगाकर वे फैंस के दिलों पर राज करने लगे थे।

अंडर-19 विश्व कप जीत में कप्तान पृथ्वी शॉ और शिवम मावी के साथ ही गिल की अहम भूमिका रही।

पृथ्वी शॉ को सीनियर भारतीय टीम में जगह मिली और उन्होंने अपनी उपयोगिता साबित की।

इसी के चलते यह अनुमान लगाया जा सकता हैं कि शुभमन भी बड़े स्तर पर अपनी काबिलियत दिखाएंगे।

अंडर-19 विश्व कप में धमाकेदार प्रदर्शन के चलते गिल को आईपीएल 2018 के लिए कोलकाता नाइटराइडर्स ने अनुबंधित किया।

चार टीमें उन्हें हासिल करना चाहती थी लेकिन केकेआर ने 1.80 करोड़ रु. खर्च कर खरीद लिया। उन्होंने 200 से ज्यादा रन बनाकर अपनी उपयोगिता साबित की।

रणजी ट्रॉफी में गिल तमिलनाडु के खिलाफ 199 रनों पर नाबाद रहे। वे इसी के साथ अपने आदर्श राहुल द्रविड़ के साथ फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 199 रनों पर नाबाद रहने वाले चुनिंदा क्रिकेटरों के खास समूह में शामिल हो गए। द्रविड़ 2003 में एडिलेड टेस्ट में 199 रनों पर नाबाद रहे थे।

गिल ने वर्तमान रणजी सत्र में धमाकेदार प्रदर्शन कर सिलेक्टर्स को ध्यान खींचा। उन्होंने 10 पारियों में 104 की औसत से 728 रन बनाए।

1
Back to top button