बीजेपी से बगावत कर एसपी में पहुंचे श्यामाचरण, पूर्व CM बीसी खंडूरी के बेटे ने थामा कांग्रेस का दामन

प्रयागराज। लोकसभा चुनाव का ऐलान होते ही दल बदलने का सिलसिला शुरू हो चुका है। उत्तर प्रदेश की प्रयागराज लोकसभा सीट से बीजेपी सांसद श्यामाचरण गुप्ता पार्टी से बगावत कर समाजवादी पार्टी (एसपी) से जुड़ गए हैं। एसपी में एंट्री के साथ ही श्यामाचरण गुप्ता को बांदा लोकसभा सीट से प्रत्याशी भी घोषित कर दिया गया है। उधर, उत्तराखंड में पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी सांसद भुवन चंद्र खंडूरी के बेटे मनीष खंडूरी कांग्रेस में शामिल हो गए।

माना जा रहा था कि बीजेपी आलाकमान इस बार श्यामाचरण गुप्ता का टिकट काटने की तैयारी में था, इस खतरे को भांपकर पहले ही उन्होंने भारतीय जनता पार्टी को छोड़कर एसपी का दामन थाम लिया।

बेटे ने जताई थी पिता का टिकट कटने की आशंका

गौरतलब है कि सांसद श्यामाचरण गुप्ता के बेटे विदुप अग्रहरि ने बीजेपी पर पिता के अपमान का आरोप लगाकर टिकट कटने की आशंका जताई थी। इसके साथ उन्होंने खुद पिता की सीट यानी इलाहाबाद से निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान किया था।

2014: बीजेपी के खाते में बांदा लोकसभा सीट

श्यामाचरण को 5 सालों तक हर मुद्दे पर उनकी अपनी पार्टी यानी बीजेपी से अलग राय के लिए जाना जाता रहा है। बता दें कि बांदा सीट में 6 मई को मतदान किया जाएगा। वर्ष 2014 में यह सीट बीजेपी के खाते में आई थी। यहां से बीजेपी प्रत्याशी भैरो प्रसाद मिश्रा ने जीत हासिल की थी।

मनीष खंडूरी की कांग्रेस में एंट्री के दौरान पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी भी मौजूद रहे। उन्होंने कहा, ‘मैं आपको बताऊंगा कि वह आज यहां क्यों हैं। आप इनके पिता को अच्छी तरह से जानते हैं। वह पार्ल्यामेंट डिफेंस कमिटी के चेयरमैन थे। उन्होंने (बीसी खंडूरी) अपनी पूरी जिंदगी आर्मी को दे दी। हालांकि, जब उन्होंने पार्ल्यामेंट में नैशनल सिक्यॉरिटी से जुड़ा एक सवाल पूछा और बताया कि किस तरह से सेना की मदद की जानी चाहिए, जो कि नहीं की जाती है तो उन्हें कमिटी से हटा दिया गया।’

Back to top button