राष्ट्रीय

सिद्धारमैया की फजीयत : ये क्या बोले गए जाफर शरीफ…

बैंगलुरु : केंद्र की पूर्व पीवी नरसिम्हा राव सरकार में 1991 से 1995 तक रेल मंत्री रहे और कर्नाटक में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सीके जाफर शरीफ ने कर्नाटक चुनावों से पहले सिद्धारमैया सरकार द्वारा लिंगायत समुदाय को धार्मिक अल्पसंख्यक का दर्जा देने की पहल को घातक करार दिया है और कहा है कि इससे कांग्रेस को कुछ भी सियासी तौर पर हासिल नहीं होनेवाला है। शरीफ ने कहा कि लिंगायतों को अल्पसंख्यक दर्जा देना हिन्दुओं को बांटने और मूर्ख बनाने की साजिश है।

उन्होंने कहा कि पहले से ही लिंगायत समुदाय आर्थिक और सामाजिक रूप से काफी विकसित रहा है। उनके पास अपना मठ है। उनके लोग सरकार में उच्च पदों पर हैं। वे लोग शिक्षित हैं और व्यापार पर उनकी अच्छी पकड़ है। जाफर शरीफ ने कहा कि उन्हें नहीं लगता है कि कांग्रेस अपनी हाल के चुनावी चाल से लिंगायत समुदाय को अपने पाले में करने में कामयाब हो पाएगी।

बता दें कि 224 सदस्यों वाले कर्नाटक विधानसभा की करीब 100 सीटें ऐसी हैं, जहां लिंगायत समुदाय का प्रभाव है। कांग्रेस के इस कदम से बीजेपी में बेचैनी है क्योंकि माना जाता रहा है कि लिंगायत समुदाय बीजेपी का कोर वोटर है लेकिन धार्मिक अल्पसंख्यक का दर्जा देकर कांग्रेस ने बीजेपी के वोट बैंक में सेंध लगाने की कोशिश की है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.