सिहावा/नगरी: मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरवा, घुरवा, बाडी की उडी धज्जियां…

राजशेखर नायर नगरी...

नगरी/सिहावा. नगर पंचायत नगरी में मुख्यमंत्री भूपेश बधेल की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरवा, घुरवा, बाडी की धज्जियां उड़ाई जा रही है। इससे नगरवासियों में नाराजगी है। एकतरफ प्रदेश सरकार नदीयों, तालाबों के संरक्षण के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठा रही है, तो वहीं नगर प्रशासन पैटू तलाब के अस्तित्व को मिटाने का पूरा प्रयास कर रही है।

रोज नगर के विभिन्न वार्डों से निकला कचरा यहाॅ डला जा रहा है, ताकि यह पैठू तालाब धीरे-धीरे कचरा से भर जाय। तालाब का बढा हिस्सा कचरा डालकर भरा भी चुका है। इसके अलावा गुडियारी तलाब का पानी भी निस्तारी के योग्य नही रहा, तलाब का पानी पूरी तरह से दूषित हो चुका है। कचरा, गंदगी, बदबुदार पानी उपयोग में लाने लोग मजबूर है।

बांधा तालाब का हाल भी खराब है, तलाब के किनारे अतिक्रमण, सफाई का अभाव। नगर के अन्य तालाबों का भी बुरा हाल है।
पर सबसे गंभीर स्थिति पैटू तालाब की है, जहाँ नगर का निकला हुआ सैकड़ों टन कचरा डाला गया है और अब भी डाला जा रहा है।
अखबारों में प्रकाशन और नगरवासियों द्वारा एसडीएम से शिकायतों के बावजूद भी कृत्य जारी है।

चूँकि यह पैटू तालाब सिहावा की ओर से नगर प्रवेश के मुख्य मार्ग के प्रारंभ में स्थित होने से जो यात्री उस दिशा से नगर प्रवेश करते है, उन्हें बदबू और कचरा का अंबार के दर्शन करना पड़ता है, जिससे नगर की छवि धूमिल हो रही है। बदबू से बचने के लिए नाक में रुमाल रखकर नगर प्रवेश करना पड़ता है।

कचरे के अंबार के कुछ ही दूरी पर राजाबाडा में कई महत्वपूर्ण आयोजन किए जाते हैं जैसे नवरात्र मे दुर्गा माता की प्रतिमा की स्थापना। मानसम्मेलन और भी कई महत्वपूर्ण आयोजन। आयोजनों के समय में इस स्थान पर अन्यत्र ग्रामीण क्षेत्रों से बड़ी संख्या में लोगों का नगर प्रवेश होता है। मुख्यालय होने की वजह से भी नगरी में ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों का प्रतिदिन बड़ी संख्या में आना जाना लगा रहता है, ऐसे में नगर प्रशासन को चाहिए कि नगर की स्वच्छ छवि का विशेष ध्यान रखें।

सिहावा मार्ग पर स्थित पैटू और गुडियारी तालाब और छिपली महाकालेश्वर और फरसियाँ महामाया मंदिर के मार्ग में स्थित बांधा तालाब के संरक्षण व सौंदर्यीकरण विशेष प्रयास किया जाय। खेतों की सिंचाई के लिए उपयोग में लाए जाने वाला नहर भी भू माफियाओं के निशाने पर है। सरकार द्वारा नहर के जमीनों पर मुआवजा दे दिया गया है उसके बावजूद उन शासकीय जमीनों को मुरूम पाट कर बेचा जा रहा है । इससे सिंचाई का पानी खेतों में नहीं पहुंच पा रहा है। नगरवासियों ने क्षेत्र की विधायक डाँ.लक्ष्मी ध्रुव से निवेदन किया है कि, प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल की नरवा संरक्षण योजना का पालन कराया जाए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button