छत्तीसगढ़

सिहावा विधायक ने हाथियों के दल से प्रभावित ग्रामों में जाकर नुकसान का जायजा लिया

राजशेखर नायर

नगरी। विगत वर्षों से हाथियों का दल दो से तीन दफा सिहावा विधानसभा के सिंगपुर वन परिक्षेत्र के आसपास के ग्रामो मे अपनी दस्तक देता आ रहा है।वर्तमान में 21 हाथियों का दल वन परिक्षेत्र सिंगपुर से लगे हुवे ग्रामों खड़मा,गिरोला,सरईरुख,अंजोरा, मुड़केरा मे जमे हुवे है इस दौरान हाथियों के दल ने कई एकड़ पर लगी फसल को बर्बाद कर दिया है।

इसी तारतम्य मे सिहावा विधायक डॉ. लक्ष्मी ध्रुव ने सिंगपुर वन परिक्षेत्र के आसपास के ग्रामो खड़मा,गिरोला, अंजोरा,मुड़केरा का दौरा कर हाथियों द्वारा किसानों के खेत मे लगे फसलो का नुकसान का जायजा किया इस दौरान उपस्थित वन परिक्षेत्र अधिकारी सिंगपुर आशीष आर्य ने बताया कि 21 हाथियों के दल ने 2 से 3 दिनों मे ग्राम खड़मा के 42 किसानों का 35 एकड़ फसल,ग्राम गिरोला के तीन किसानों का 5 एकड़ फसल,ग्राम सरईरुख के 22 किसानों का 15 एकड़ फसल,ग्राम मुड़केरा के एक किसान के 3 एक फसल को नुकसान पहुंचाया है साथ ही खेतो मे लगे सिंचाई उपकरणों को भी क्षतिग्रस्त कर दिया है।

इस पर ग्रमीणजनों ने नई दर पर मुआवजा दिलाने सिहावा विधायक डॉ. लक्ष्मी ध्रुव से मांग की चूंकि धान का समर्थन मूल्य 2500 रुपये क्विंटल हो चुका है जिससे की पुरानी दर पर किसानों को बहुत नुकसान होगा ,इस विषय पर विधायक मोहदया ने मौके पर उपस्थित वनमंडल अधिकारी अमिताभ वाजपेयी को निर्देशित करते हुवे कहा कि हाथियों द्वारा किसानों के क्षतिग्रस्त फसलों का जल्द से जल्द नई दर पर मुआवजा दिलाने की कार्यवाही करें किसान सालभर मेहनत कर अपनी फसल उगाते है उन्हें किसी भी प्रकार का कष्ट न हों।

डॉ ध्रुव ने ग्रामीणों को जल्द से जल्द मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया साथ ही ग्रामीणों से अपील की कोई भी व्यक्ति अकेले खेत,जंगल की तरह न जावे, हाथियों से दूरी बना कर रखे,वन विभाग का सहयोग करें ,सतर्क रहे,सुरक्षित रहें।

इस दौरान विधायक प्रतिनिधि रुद्र प्रताप नाग,जनपद सदस्य कृष्णा गंगा सागर, जितेंद्र सागर,सरपंच सिंगपुर अनीस गंगा सागर,जीपी बागड़े,रामाधीन, म्हबुद खान,गोपाल ध्रुव,रमती देव,मेलाराम,ठाकुरराम,गजेंद्र साहू,नंदकुमार ध्रुव,भगतराम ध्रुव,पवन ध्रुव, लोमन ध्रुव,सरपंच मुड़केरा केनसिंघ, सोनसाय मंडावी,श्रीराम ध्रुव, शिव कुमार ,देवेंद्र,प्रीतम, सुकालू ,बीरबल एवं ग्राम खड़मा,गिरोला, सरईरुख,मुड़केरा के ग्रामीण उपस्थित थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button