ऑस्ट्रेलिया में सिख परिवार ने जीती पगड़ी की लड़ाई

ऑस्ट्रेलिया में रहने वाले भारतीय सिख परिवार ने एक ईसाई स्कूल के खिलाफ कानूनी लड़ाई जीत ली है। इस स्कूल ने पगड़ी पहनने के कारण 2016 में उनके 5 साल के बेटे सिद्धक सिंह अरोड़ा को दाखिला देने से इनकार कर दिया था। विक्टोरियन सिविल ऐड एडमिनिस्ट्रेटिव ट्राइब्यूनल (वीसीएटी) ने इस मामले में सिख परिवार के पक्ष में अपना फैसला दिया।

सिद्धक ने मेलबर्न के मेल्टन क्रिश्चियन कॉलेज (एमसीसी) में प्रेप क्लास में दाखिले के लिए आवेदन किया था। मसीसी ने यह कहते हुए दाखिले से इन्कार कर दिया कि यूनिफार्म नियमों के अनुसार बच्चे किसी धर्म से संबंधित टोपी या पगड़ी पहनकर स्कूल नहीं आ सकते। सिद्धक के पिता सागरदीप सिंह अरोड़ा ने इसे समान अवसर कानून का उल्लंघन बताते हुए वीसीएटी में शिकायत की थी।

वीसीएटी की सदस्य जूली ग्रेंजर ने कहा, ‘एमसीसी एक ईसाई स्कूल है लेकिन वहां 50 फीसद से ज्यादा गैर ईसाई बच्चे पढ़ते हैं। यह उचित नहीं है कि बच्चों को सिर्फ इस शर्त पर दाखिला दिया जाए कि वे गैर ईसाई की तरह नहीं दिखने चाहिए।

स्कूल अपनी यूनिफार्म नीति में बदलाव कर सिद्धक को स्कूल यूनिफार्म के रंग की पगड़ी पहनने की इजाजत दे सकता था।’ ग्रेंजर ने स्कूल और परिवार को निर्देश दिया कि वे आपस में बात कर इस मामले का हल निकालें।

Back to top button