नींबू-मिर्च पर आसमान सर पर, 8 साल के बच्चे को काटने पर मौन!

आरएसएस सदस्य, उनकी गर्भवती पत्नी और 8 साल के बच्चे की गला रेट कर हत्या

नई दिल्ली: मुर्शिदाबाद में आरएसएस के सदस्य बंधु प्रकाश, उनकी गर्भवती पत्नी और बच्चे को गला रेत कर मार दिया गया। ये वो इलाका है जहां हिन्दू आबादी न के बराबर है। कौन लोग थे वो जिन्होंने 8 साल के बच्चे को भी नहीं बख्शा? नीबू-मिर्ची पर आसमान सर पर उठाये हैं और 8 साल के बच्चे को काटने पर मौन हैं।

हंसता खेलता मुस्कुराता परिवार था पश्चिम बंगाल के शिक्षक बंधू प्रकाश पाल का। 32 साल के प्रकाश ख़ुद पेशे से शिक्षक थे वहीं RSS से भी उनका जुड़ाव था। घर में उनके 8 साल का एक बेटा था।

15 हज़ार लोग इस बारे में बात कर रहे हैं

इधर जब पूरा शहर दशहरे के रंग में सराबोर था तो कुछ अज्ञात लोग बंधू प्रकाश के घर में घुसे और बड़ी ही निर्दयता, कट्टरता और बेरहमी से बंधू प्रकाश की हत्या की, उसके बाद उनकी उस पत्नी तक की बड़ी बेदर्दी से हत्या की जिसके पेट में 6 माह का बच्चा पल रहा था जिसनें तो अभी दुनिया भी नहीं देखी थी।

अभी उन निर्दय हत्यारों का एक और खौफ़नाक चेहरा बाकी था जब पति पत्नी का खून बहाने के बाद निर्दोष, दुनिया से अज्ञात, मासूम सिर्फ़ 8 साल के बच्चे को भी मौत के घाट उतार दिया।

रिपोर्ट के अनुसार उक्त घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंच चुकी है अभी जांच जारी है घटनास्थल का दृश्य बहुत खतरनाक है घर के अंदर सिर्फ़ खून ही ख़ून बिखरा पड़ा है।

अब पुलिस की जाँच के बाद जानकारी मिल पाएगी कि आख़िर किस कारण से हत्यारों नें इतनी बेरहमी से त्यौहार के दिन ही पूरे परिवार को उजाड़ दिया। हालांकि जिसने भी इस घटना को सुना, सिरह गया,

कड़ी निंदा की और चुभता सवाल पूछा कि क्या ये सेकुलरिज्म के लिए ख़तरा नहीं है, क्या ये मॉब लिंचिंग नहीं है यदि ऐसा है तो वो गिरोह आवाज़ क्यों नहीं उठाया जो जय श्री राम न बोलने के कारण टोपी उतार दिया जैसी घटनाओं पर संविधान को ख़तरा बताते थे।

Back to top button