सिम कार्ड की री-वेरिफिकेशन आसान

आधार के जरिए मौजूदा मोबाइल फोन ग्राहकों के री-वेरिफिकेशन की प्रक्रिया को अधिक आसान और सुविधाजनक किया रहा है. एक आधिकारिक सूत्र ने यह जानकारी दी.दूरसंचार ग्राहकों के लिए पूरी प्रक्रिया को सुगम करने के लिए सरकार ने कई उपाय किए हैं. इनमें उपभोक्ता के घर के दरवाजे पर री-वेरिफिकेशन की अनुमति के अलावा ओटीपी के जरिए भी वेरिफिकेशन शामिल है.

सूत्रों ने कहा कि दूरसंचार आपरेटरों को विकलांग, बीमार या उम्रदराज लोगों को घर पर री-वेरिफिकेशन की सुविधा उपलब्ध कराने को कहा गया है.
इसके अलावा ऑपरेटरों से वेबसाइट और अन्य माध्यमों से ऑनलाइन व्यवस्था भी स्थापित करने को कहा गया है, जिससे लोग इस तरह की सेवा के लिए आग्रह भेज सकें.

मौजूदा मोबाइल ग्राहकों के लिए आधार ओटीपी आधारित री-वेरिफिकेशन की सुविधा भी शुरू की गई है. दूरसंचार ऑपरेटरों को निर्देश दिया गया है कि वे मोबाइल ग्राहकों के लिए ओटीपी आधारित री-वेरिफिकेशन की प्रक्रिया शुरू करने को कहा गया है. ऑपरेटरों को इसके लिए एसएमएस या आईवीआरएस या उनके मोबाइल ऐप का इस्तेमाल करने को कहा गया है.

सूत्र ने कहा कि इसका आशय है कि यदि एक मोबाइल नंबर आधार डेटाबेस में पंजीकृत है, तो ओटीपी तरीके का इस्तेमाल उस नंबर के पुन: सत्यापन के अलावा संबंधित ग्राहक के अन्य नंबरों के सत्यापन के लिए भी किया जा सकता है. सूत्र ने बताया कि करीब 50 करोड़ मोबाइल नंबर पहले ही आधार डेटाबेस में पंजीकृत हैं. इन सभी मामलों में री-वेरिफिकेशन के लिए ओटीपी का इस्तेमाल किया जा सकता है.

advt
Back to top button