कांसाबेल विकास खण्ड में अब नहीं रहेगा एकल शिक्षक स्कूल

कांसाबेल विकास खण्ड के सभी एकल शिक्षक वाले शासकीय स्कूलों में शिक्षकों की पदस्थापना की प्रक्रिया शुरू हो गई है। जनपद पंचायत कांसाबेल के उपाध्यक्ष व शिक्षा समिति के अध्यक्ष आलोक सारथी ने समिति की विशेष बैठक का आयोजन कर स्कूलों में रिक्त पदों की स्थिति की समीक्षा की।

बैठक में समिति के सदस्यों के साथ शिक्षा विभाग के अधिकारी उपस्थित थे। विदित हो कि दो दिन पूर्व केन्द्रीय इस्पात राज्य मंत्री विष्णुदेव साय ने विकास खण्ड के खुंटेरा स्थित शासकीय प्राथमिक शाला का डॉ एपीजे अब्दुलकलाम शिक्षा गुणवत्ता अभियान के तहत निरीक्षण किया था। इस निरीक्षण के दौरान यहां के छात्रों ने मंत्री श्री साय के समक्ष शिक्षकों की कमी से अध्यापन कार्य में हो रही कठिनाई को रखते हुए रिक्त पदो पर शिक्षकों की नियुक्ति की मांग की थी।

इस पर श्री साय ने जल्द ही शिक्षक की नियुक्ति का भरोसा दिया था। खुंटेरा में उजागर हुए शिक्षक की कमी और मंत्री श्री साय के निर्देश पर शिक्षा समिति के अध्यक्ष आलोक सारथी ने कार्रवाई की पहल की। शिक्षा समिति के बैठक में कांसाबेल विकासखंड के प्राथमिक शाला खुटेरा, पटेलपारा टांगरगांव, तीतरमारा, सेमरकछार, दल्हागोड़ा, पंडरीपानी नकबार, बगिया, जंगलटोली नकबार, सागीभावना, तुरंगाखार, कटंगखार एवं मड़ियाझरिया में एक एक और शिक्षकों की व्यवस्था की गई द्यशिक्षा समिति के अध्यक्ष आलोक सारथी ने बताया कि बहुत जल्द माध्यमिक शालाओं में भी शिक्षकों की व्यवस्था की जायेगी, बच्चों की पढाई किसी भी प्रकार से प्रभावित होने नहीं दिया जायेगा ,साथ ही शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने के लिए हर संभव प्रयास किये जायेंगे ।

बैठक में आलोक सारथी अध्यक्ष शिक्षा समिति, हंसराज अग्रवाल जनपद सदस्य, सेलबेस्तर कुजुर विकासखंड शिक्षा अधिकारी, निर्मल पटेल बीआरसी, सुखीराम साहु, सहित समिति के सदस्य मौजुद रहे ।

advt
Back to top button