केंद्र की आयुष्मान योजना पर सिंहदेव का अटैक, कहा-दूषित स्कीम, इससे बेहतर बनाएंगे

रायपुर।

स्वास्थ विभाग की पहली समीक्षा बैठक में मंत्री टीएस सिंहदेव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आयुष्मान योजना पर करारा प्रहार किया। विभागीय अधिकारियों से स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी लेने के बाद सिंहदेव ने कहा कि आयुष्मान योजना दूषित स्कीम है। इसमें 100 से ज्यादा बीमारियों के इलाज के लिए एक भी पैसे का प्रावधान नहीं किया गया है। बीमारी हो जाने के बाद उसके ऑपरेशन के लिए पैसा है। मधुमेह की दवाई के लिए पैसा नहीं है, जबकि गर्भ निकालने के लिए पैसा है। यह पूरी तरह से गलत है और राज्य सरकार इससे बेहतर योजना तैयार करने जा रही है।

सिंहदेव ने कहा कि आयुष्मान योजना में गरीबों को पांच लाख स्र्पये तक का मुफ्त इलाज का प्रावधान है। इस पर अधिकारियों से जानकारी ली गई है और इसमें और बेहतर उपाय किया जा सकता है। आयुष्मान योजना में 1100 रुपये प्रति व्यक्ति के हिसाब से प्रावधान है, उससे कही अधिक व्यवस्था राज्य सरकार कर सकती है। विभाग इस दिशा में आगे बढ़ेगा।

उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ आयुष्मान योजना के पक्ष में नहीं है। अधिकारियों से चर्चा हुई है कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य योजना को कैसे जोड़कर प्रदेश में लागू किया जा सकता है। उन्होंने कांग्रेस के जनघोषणा पत्र में शामिल यूनिवर्सल हेल्थ स्कीम को लेकर भी मंथन किया। अधिकारियों ने बताया कि स्मार्ट कार्ड से 50 हजार का इलाज हो रहा है। इसे एक लाख किये जाने पर चर्चा की गई है।

अस्पतालों में डॉक्टरों और उपकरणों की कमी

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने प्रजेंटेशन के माध्यम से प्रदेश के अस्पतालों में डॉक्टरों और उपकरणों की कमी की जानकारी दी। सिंहदेव ने कहा कि स्टाफ की कमी से लेकर उपकरणों और सेवाओं की कमी की बात बार-बार सामने आती है। इसकी समीक्षा के साथ निर्देश दिया गया है कि इसमें परिवर्तन आना चाहिए। 26 जिला अस्पतालों की स्थिति की भी समीक्षा की गई।

नियमितीकरण का जल्द तय होगा फार्मूला

विभाग के कर्मचारियों के नियमितीकरण को लेकर जल्द फार्मूला तय होगा। सिंहदेव ने कहा कि देखना होगा कि नियमितीकरण सीधे हो सकता है या नहीं। सभी को नियमित करने में आरक्षण पूरा करने की बाधा आएगा। विभाग के लोगों से चर्चा के बाद समाधान निकाला जाएगा।

कई विधायक भी थे मौजूद

समीक्षा बैठक में मंत्री सिंहदेव के साथ विधायक डॉ प्रीतम राम, डॉ विनय जायसवाल और कुलदीप जुनेजा भी मौजूद थे। विधायकों ने भी स्वास्थ्य सुविधा को बेहतर करने का सुझाव दिया।

1
Back to top button