बहनों की विदाई देख परिवार के इकलौते चिराग बीमार, अस्पताल में मौत

मौत के बाद पूरे गांव में शोक पसर गया

जयपुर:

राजस्थान के पाली में उन दिन मातम पसरा जब डेंडा गांव में अपने ही बहनों की विदाई देख परिवार के इकलौते चिराग दिव्यांग राजूदास की मौत हो गई। जिससे पूरा गाँव सदमे में है।

दरअसल राजस्थान के पाली में सात दिन पहले मोहनदास वैष्णव का परिवार ही नहीं बल्कि समूचा डेंडा गांव 4 बहनों की शादी को लेकर जश्न में डूबा था। विदाई की बेला में बाराती व घराती सामाजिक रस्में पूरी करने में व्यस्त थे।

इस बीच बहनों काे विदा होते देखकर परिवार के इकलौते चिराग दिव्यांग राजूदास की आँसू इतनी फूटी की वो बीमार हो गए, जिसके बाद उन्हे तुरंत अस्पताल में में भर्ती किया गया।

गांव वाले ही उसे उपचार के लिए बांगड़ अस्पताल लेकर पहुंचे, मगर तबीयत में सुधार नहीं होने पर उसे जोधपुर रेफर किया, जहां उसकी गुरुवार को मौत हो गई। 5 बहनों के इकलौते भाई की मौत के बाद पूरे गांव में शोक पसर गया।

advt
Back to top button