छत्तीसगढ़

अपनी बेटी को इलाज के लिए कंधे पर बैठाकर 12 किलोमीटर दूर जा रहा पैदल

नंदा की बेटी दो दिन से उल्टी-दस्त से बीमार

पेड़का: कुआकोंडा ब्लॉक के पेड़का गांव का रहने वाला नंदा की बेटी दो दिन से उल्टी-दस्त से बीमार है। जिसकी वजह से अपनी बेटी को इलाज के लिए कंधे पर बैठाकर पैदल 12 किलोमीटर दूर जा रहा है।

इतनी दूर जाना मजबूरी है क्योंकि गांव से 3 किलोमीटर दूर अरनपुर हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर दो दिन बंद है। नंदा ने बताया दो दिन से अरनपुर अस्पताल जा रहा हूं पर वहां ताला लगा था इसलिए मजबूरी में बेटी को लेकर बुधवार को 12 किमी दूर समेली लेकर जा रहा हूं।

दरअसल, दंतेवाड़ा के अरनपुर, टेटम, मोलसनार, गुड़से, चिकपाल जैसे अस्पतालों में कर्मचारियों की कमी की वजह से आए दिन ताला लगा रहता है। टीकाकरण में ड्यूटी लगी अस्पताल बंद करना गलत कुआकोंडा बीएमओ विजय कर्मा ने कहा कि स्वास्थ्य कर्मियों की ड्यूटी जेई टीकाकरण और कोरोना जांच में लगी हुई है, लेकिन अस्पताल बंद नहीं किया जाना है। पता करते हैं अस्पताल में बुधवार को किसकी ड्यूटी थी। TAGS

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button