थप्पड़ मूवी रिव्यू: तापसी ने शानदार परफार्मेंस से जीता दिल

Thappad Movie Review

Thappad Movie Review: विक्रम एक ऐसी शख्सियत है जो जिंदगी के अपने संघर्षों के साथ आगे बढ़ रहा है। वह बहुत अच्छा इंसान है, लेकिन एक मामूली उकसावे पर वह ऐसे पति में बदल जाता है जो समाज के हिसाब बिलकुल ठीक है, लेकिन एक पत्नी यानी महिला की गरिमा पर करारा थप्पड़ है। फिल्म समीक्षक तरण आदर्श ने लिखा है कि ‘ डायरेक्टर अनुभव सिन्हा ने एक बार फिर से बहुत स्ट्रॉन्ग मैसेज दिया है, अनुभव का अब तक का सबसे शानदार काम ‘थप्पड़’ में देखने को मिला है’। वहीं, तापसी ने भी शानदार परफार्मेंस से एक बार फिर दर्शकों का दिल जीत लिया है।

थप्पड़ की कहानीः

फिल्म शुरू होती है तापसी और पति विक्रम की हंसती-खेलती जिंदगी से। लेकिन एक वक्त ऐसा भी आता है जब आदमी और औरत में किए जाने वाले भैद-भाव साफ दिखाई देने लगते हैं। पुरुष प्रधान समाज का औरत को लेकर एक अलग नजारिया है। उसी को बदलने की कोशिश है थप्पड़।

एक इवेंट में विक्रम अपनी पत्नी तापसी उर्फ अमृता को थप्पड़ मार देता है। इसके बाद पति के लिए अपना कैरियर दांव पर लगाने वाली अमृता के लिए एक ही पल में बहुत कुछ बदल जाता है। वह एक डांसर बनना चाहती है, लेकिन इतिहास अपने आप को दोहरता है। एक वक्त था जब अमृता की मां रत्ना पाठक शाह भी सिंगर बनना चाहती थी, लेकिन पति के कैरियर के लिए वह अपना कैरियर बर्बाद कर देती है। लेकिन अमृता कुछ समय खामोश रहकर पति के खिलाफ जाकर वकील से मिलती है और कुछ ऐसा करने के लिए समाज को मजबूर करती है कि वह सब को गंवारा नहीं गुजरता।

अमृता को जो थप्पड़ पड़ा है, वह समाज के लिए कितना घातक है। यही है इस फिल्म की कहानी। इस फिल्म में पांच और औरतों की कहानी भी साथ-साथ चलती है।

Tags
Back to top button