गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के लिए सही नहीं पीठ के बल सोना

16 सप्ताह की प्रेग्नेंसी के बाद पीठ के बल सोना बच्चे के लिए खतरनाक हो सकता है।

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के शरीर में कई तरह के बदलाव आते हैं जिस वजह से उनको थकान महसूस होने लगती है। एेसे में थकान मिटाने के लिए भरपूर नींद लेना बहुत जरूरी होता है। मगर 16 सप्ताह की प्रेग्नेंसी के बाद पीठ के बल सोना बच्चे के लिए खतरनाक हो सकता है। इस तरह से सोना सिर्फ बच्चे ही नहीं मां के लिए भी हानिकारक साबित होता है। एेसे में आज हम आपको बताएंगे कि कौन सी पॉजिशन में सोना मां और बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद है।

किस और करवट लेकर सोना फायदेमंद

इन दिनों महिलाओं को बाईं ओर करवट लेकर सोना अच्छा होता है। इस तरफ सोने से लिवर पर कोई दबाव नहीं पड़ता है। लीवर ठीक रहने से आपका पाचन तंत्र भी नहीं बिगड़ेगा। अगर आप बाईं ओर करवट लेकर थक चुकी हैं तो थोड़ी देर के लिए दाईं ओर करवट लेकर भी सो सकती हैं।

कितनी नींद लेना है जरूरी

अक्सर आप ने लोगों को कहते सुना होगा की इस अवस्था में जितना हो सके उतना आराम करना चाहिए। मगर जरूरत से ज्यादा सोना भी खतरनाक हो सकता है। प्रैग्नेंसी में 7-9 घंटें की नींद जरूरी है। यदि कोई महिला इससे कम नींद लेती है तो उनको दिनभर भारीपन सा लगता है। इतना ही महिला चिड़चिड़ी भी हो सकती है।

भरपूर पानी पीएं

इन दिनों में भरपूर मात्रा में पानी पीना भी बहुत आवश्यक होता है। जरूरत अनुसार पानी पीने से शरीर से टॉक्सिन आसानी से बाहर निकल जाते हैं। इससे शरीर हाइड्रेट रहता है और अच्छी नींद आती है।

<>

1
Back to top button