विधानसभा के बाहर विधायक अजय चंद्राकर के खिलाफ लगे नारे

रायपुर।

छत्तीसगढ़ विधानसभा के पहले सत्र के पहले दिन हंगामे के बाद सदन की कार्रवाई एक दिन के लिए स्थगित कर दी गई। धारा 144 की सीमा लांघकर विधानसभा के मुख्यद्वार तक पहुंचे कांग्रेसियों ने कुरुद विधायक और पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। प्रदर्शन कर रहे कांग्रेसी हाथों में तख्तियां लिए हुए थे, जिनमें कुरुद के विधायक को जोकर और लबरा कहा गया। यही कहकर कांग्रेसी विधानसभा के बाहर हंगामा कर रहे थे।

राज्यपाल के अभिभाषण से विपक्ष वैसे ही असंतोष जता रहा था। इस पर कुरुद विधायक के खिलाफ प्रदर्शनकारियों के धारा 144 तोड़कर विधानसभा के मुख्य द्वार तक आ पहुंचने से भाजपा और भी बिफर गई। उसने सदन पर सरकार को संरक्षण देने का आरोप लगाया। इसके साथ हंगामा बढ़ता गया और फिर राज्यपाल ने सदन की कार्रवाई स्थगित कर दी।

बता दें कि कांग्रेस के चुनाव जीतने के बाद किसानों की कर्जमाफी के मुद्दे को लेकर पूर्व मंत्री और कुरुद के विधायक अजय चंद्राकर ने बयान दिया था कि यदि एक भी किसान की कर्जमाफी के साथ उसके खाते में पैसे वापस आ गए तो वे विधायकी छोड़ देंगे। किसानों के खाते में पैसे वापस आने के बाद कांग्रेसियों ने चंद्राकर को घेरना शुरू कर दिया। किसानों के खाते में आए पैसे के प्रमाण के रूप में मोबाइल पर खाताधारी का ट्रांजक्शन मैसेज दिखाते हुए कांग्रेसियों ने कुरुद विधायक से पद छोड़ने की मांग की।

1
Back to top button