सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान दंडनीय अपराध -सरगुजा कलेक्टर

रोशन सोनी:

अम्बिकापुर: कलेक्टर डॉ.सारांश मित्तर ने तम्बाकू सेवन का स्वास्थ्य पर घातक प्रभाव को दृष्टिगत रखते हुये लोगों से तम्बाकू का सेवन नहीं करने का आग्रह किया है।

उन्होंने बताया है कि बीड़ी, सिगरेट, खैनी, गुडाखू एवं जर्दा आदि के सेवन से स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव पड़ता है तथा सेवन करने वाले प्राणघातक बीमारियों से ग्रस्त हो जाते हैं।

राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम

राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम सरगुजा से प्राप्त आंकड़े अत्यंत भयावह स्थिति को प्रदर्शित करते हैं। तम्बाकू की सहज उपलब्धता एवं कम कीमत में प्राप्त होने के कारण अधिकांश लोगों द्वारा तम्बाकू का सेवन किया जाता है।

तम्बाकू सेवन के उपरान्त उत्पन्न बीमारियां महामारी का रूप धारण करती जा रही है। राष्ट्रीय तम्बाकु नियंत्रण कार्यक्रम सरगुजा जिले के प्रभारी डॉ. शैलेन्द्र गुप्ता ने बताया है कि सरगुजा जिले की लगभग 40 प्रतिषत जनसंख्या तम्बाकू का सेवन करती है।

सरगुजा के विभिन्न विकासखण्डों में तम्बाकू सेवन करने वालों की संख्या बहुतायत

इसमें 35.7 प्रतिशत खैनी व गुडाखू खाने वाले व 4.3 प्रतिशत सिगरेट व बीडी पीने वालों की है। सरगुजा के विभिन्न विकासखण्डों में तम्बाकू सेवन करने वालों की संख्या बहुतायत में हैं।

प्राप्त आंकड़ों के अनुसार जिले की कुल जनसंख्या 8 लाख 40 हजार 352 में से बीड एवं सिगरेट सेवन करने वालों की संख्या 36 हजार 131 तथा खैनी,गुडाखू एवं जर्दा सेवन करने वालों की संख्या 3 लाख है।

जिले में तम्बाकू सेवन करने वालों की संख्या 3 लाख 36 हजार 132

इस प्रकार जिले में तम्बाकू सेवन करने वालों की संख्या 3 लाख 36 हजार 132 है। अम्बिकापुर जनपद की कुल जनसंख्या 2 लाख 79 हजार 717 में से बीड़ी और सिगरेट सेवन करने वालों की संख्या 12 हजार 27 तथा खैनी, गुडाखू एवं जर्दा सेवन करने वालों की संख्या 99 हजार 858 है।

इसी प्रकार बतौली जनपद की कुल जनसंख्या 70 हजार 244 में से बीड़ी और सिगरेट पीने वालों की संख्या 3 हजार 20 तथा खैनी, गुडाखू एवं जर्दा सेवन करने वालों की संख्या 25 हजार 77 है।

लखनपुर जनपद की कुल जनसंख्या 1 लाख 18 हजार 969 में से बीड़ी और सिगरेट पीने वालों की संख्या 5 हजार 115 तथा खैनी, गुडाखू एवं जर्दा सेवन करने वालों की संख्या 42 हजार 471 है।

1
Back to top button