राजनीति

स्मृति ईरानी का राहुल गांधी पर पलटवार, कहा- लगे रहो भाई, गुजरात फिर भी हारोगे

केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता स्मृति ईरानी ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर पलटवार किया है. ईरानी ने शुक्रवार की शाम राहुल गांधी पर तंज कसते हुए ट्वीट कर कहा कि ‘एक आदमी जो बेल पर है, कोर्ट का मजाक उड़ा है.

लगे रहो भाई गुजरात फिर भी हारोगे. साल मुबारक. स्मृति ईरानी का यह ट्वीट कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के उस ट्वीट के जवाब में आया है, जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जयशाह के मामले में ‘चुप्पी’ के लिए तंज कसा था.

राहुल ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह की कंपनी के टर्नओवर में अचानक हुए कथित इजाफे के मुद्दे पर ‘चुप्पी’ के लिए तंज कसते हुए कहा कि वह न तो इस मुद्दे पर कुछ बोलते हैं और न ही किसी को बोलने देते हैं.

राहुल ने ट्वीट कर कहा, “मित्रों, शाह-जादे के बारे में न बोलूंगा, न किसी को बोलने दूंगा.” राहुल ने इशारों इशारों में मोदी की प्रसिद्ध पंक्ति ‘न खाऊंगा न खाने दूंगा’ पर चुटकी लेते हुए यह बात कही.

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी इन दिनों पर गुजरात पर फोकस लगाए हुए हैं, जहां आने वाले समय में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं.

वे लगातार अपनी सभाओं और रैलियों में इस मुद्दे को उठा रहे हैं. कांग्रेस इस बार गुजरात में पूरी ताकत झोंके हुए है. ऐसे में राहुल गांधी पर बीजेपी की ओर से लगातार हमले हो रहे हैं.

बीजेपी और मोदी कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर ‘शहजादे’ व ‘युवराज’ कहकर निशाना साधते रहे हैं, उन्हें पार्टी अध्यक्ष के पद के लिए स्पष्ट वारिस मानकर हमला करते रहे हैं.

राहुल गांधी ने भी जय शाह की कंपनी पर विवाद शुरू होने के बाद जय शाह को ‘शाह-जादा’ कहकर संबोधित किया.

 राहुल गांधी ने पिछले सप्ताह एक न्यूज पोर्टल के साथ जय शाह के कानूनी विवाद को ‘राज्य कानूनी सहायता’ का आरोप लगाकर निशाना साधा था.

राहुल इस मामले में लगातार नरेंद्र मोदी और अमित शाह पर निशाना लगा रहे हैं. एक न्यूज रिपोर्ट में आरोप लगाया गया है कि मोदी के 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद कथित तौर पर जय शाह की कंपनी का टर्नओवर 16,000 गुणा बढ़ गया.

कांग्रेस ने इस मुद्दे की जांच सर्वोच्च न्यायालय के वर्तमान न्यायाधीशों से करवाने की मांग की है. बीजेपी ने कांग्रेस के आरोप को बेबुनियाद बताते हुए जय शाह की कंपनी को पूरी तरह से वैध और कानूनी बताया है.

गुजरात चुनाव की तारीखों का ऐलान बाकी!

चुनाव आयोग ने पिछले सप्ताह हिमाचल प्रदेश चुनाव की तिथि की घोषणा की थी, लेकिन गुजरात चुनाव की तिथि की घोषणा नहीं की.

विपक्ष ने चुनाव आयोग पर दबाव का आरोप लगाते हुए कहा था कि ऐसा गुजरात में मोदी द्वारा और परियोजनाओं की घोषणा के लिए किया गया है.

Summary
Review Date
Reviewed Item
स्मृति ईरानी
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.