छत्तीसगढ़

नगर निगम के पानी सप्लाई नल से निकला सांप, लोगों में मचा हड़कंप

तात्यापारा हनुमान मंदिर गली में पानी भरते समय हुआ यह घटना

रायपुर: छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर स्थित तात्यापारा हनुमान मंदिर गली से एक अजीबो-गरीब घटना सामने आया है, जहां नगर निगम के पानी सप्लाई नल से पानी भरते समय पानी के साथ साप भी मिला जिसे देखकर मुहल्ले में हड़कंप मच गया.

ज़िम्मेदार अधिकारी ने जाँच कर व्यवस्था सुधारने की बात कही

सांप को बाल्टी से निकालकर सीसी में भरकर रखा गया है. घटना की जानकारी लगते हुए मौके पर पहुंचे नगर निगम के ज़िम्मेदार अधिकारी ने जाँच कर व्यवस्था सुधारने की बात कही है. जबकि बीते दिनों ही रायपुर साफ पानी मामले में पांचवे नबंर पर आया है और जमीनी हकीकत कुछ और ही नजर आ रहा है.

नल से पानी भर रहे सुनील टोप्पो और महिलाओं ने बताया कि नगर निगम के नल से पानी भर रहे थे, उसी दौरान करीब सवा फ़ीट का साँप नल से निकला. इससे समझा जा सकता है कि नगर निगम लोगों को किस तरह के पानी पीला रहा है.

तात्या पारा के सभी लोग 1 महीने से लगातार परेशान

शुद्ध वॉटर देने की बात करते हैं और आए दिन कहीं न कहीं नगर निगम के नल से कीड़े निकल रहे हैं, तो कहीं साफ़ पानी नहीं आ रहा है. तात्या पारा के सभी लोग 1 महीने से लगातार परेशान है. लगातार गंदा पानी आ रहा है, जिसकी शिकायत जोन सात में किया गया है.

रायपुर का पानी गुणवत्ता मामले में देशभर में पांचवे नंबर पर होने की ख़बर

उनका कहना है कि रायपुर का पानी गुणवत्ता मामले में देशभर में पांचवे नंबर पर होने की ख़बर छप रही है और यहां पानी से कीड़े निकल रहे हैं. अब तो ये किसकी ज़िम्मेदारी है. कहीं न कहीं पानी सप्लाई में लगे अधिकारी अपने कामों से मुँह मोड़ रहे हैं.

इसलिए लोगों को लगातार जान का ख़तरा बढ़ता जा रहा है. कभी लोग गंदे पानी के कारण पीलिया के शिकार हो रहे हैं, तो कभी अन्य प्रकार का इंफेक्शन के कारण बीमार हो रहे हैं. इसका मतलब साफ़ है कि निगम के अधिकारी कर्मचारी सिर्फ़ बातें कर रहे हैं एक महीना से कोई समाधान नहीं हुआ है.

वार्ड पार्षद और नगर निगम के सभापति प्रफुल्ल विश्वकर्मा ने बताया

वार्ड पार्षद और नगर निगम के सभापति प्रफुल्ल विश्वकर्मा ने बताया कि मुझे मेरे वार्ड के लोगों ने फ़ोन कर सूचित किया, तो मैं तत्काल मौक़े पर पहुँचा. लोग साँप को बाल्टी से सीसी में भरकर रखे थे और निगम पर जान से खिलवाड़ करने का आरोप लगाते हुए कोसने रहे थे.

तत्काल पानी व्यवस्था से जुड़े अधिकारी कमलेश को सूचित किया फिर वो मौक़े पर पहुँचे और जाँच करने की बात कही. निगम के दावा अनुसार फ़िल्टर प्लांट से पानी तो सही निकल रहा है, लेकिन जो फ़िल्टर प्लांट से निकलने वाला पानी है लोगों के घर तक पहुँचते पहुँचते दूषित हो जा रहा है.

इसका मतलब यह है कि कहीं न कहीं पाइप लीकेज है. कही से टूटा हुआ है या कहीं नाली के संपर्क में आ गया है. इसलिए लोगों के घर तक गंदा पानी पहुँच रहा हैं. कभी कीड़े निकल रहे हैं कभी साँप निकल रहे है.

तात्यापारा वार्ड में एक महीने से लोग परेशान है. गंदे पानी पीने को मजबूर हैं, लेकिन निगम के अधिकारी कर्मचारी ये नहीं ढूंढ पा रहे हैं कि कहाँ से ये गंदगी नल के अंदर प्रवेश कर रही है.

निगम के अधिकारी कमलेश ने बताया कि फ़िल्टर प्लांट से सांप का आना तो संभव नहीं है. क्योंकि वहाँ से साफ़ पानी आता है. कहीं न कहीं लीकेज हुआ होगा. इसको आज ही जाँच कराकर ठीक कराया जाएगा.

Tags
Back to top button