छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ का बेड़ा गर्क करने वाले भाजपा नेताओं को सांप सूंघ गया: विकास तिवारी

कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि कोरोना महामारी के समय भाजपा नेता मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और प्रदेश सरकार को बदनाम कर रहे थे।

रायपुर: छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता एवं सचिव विकास तिवारी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से छत्तीसगढ़ राज्य के कार्यों की समीक्षा विस्तार से की और संतुष्ट होने के बाद भूपेश सरकार के कार्यों की भूरी भूरी प्रशंसा की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोरोना से संबंधित मुद्दे (वित्तीय सहायता, अस्पताल का ढांचा, राशन तथा रोजगार आदि), प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण), प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर भारत के अंतर्गत स्वनिधी योजना, निर्यात के रूप में जिले का विकास तथा आपरेशनाइ एग्रीकल्चर रिफार्म के संबंध चर्चा की और भूपेश सरकार के जनहितैषी कार्यो के संपादन एवं क्रियान्वयन पर संतुष्टि जताया।

कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि 15 सालों से छत्तीसगढ़ राज्य का बेड़ा गर्क करने वाले कमीशनखोर भाजपा नेताओं को प्रधानमंत्री के द्वारा किए गए, प्रशंसा पर सांप सूंघ गया। कोरोना महामारी के समय जब मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पूरी कांग्रेस सरकार जनहितैषी योजनाओं का क्रियान्वयन और संपादन कर रही थी, तब पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल अजय चंद्राकर राजेश मूणत सहित तमाम भाजपा के नेता सरकार को कोसने में लगे हुए थे और जनता के बीच भ्रम फैलाने का भी काम लगातार इन भाजपा नेताओं के द्वारा किया जा रहा था। अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रदेश सरकार के द्वारा किए जा रहे कार्यों की ना केवल प्रशंसा की बल्कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के जनहितैषी कार्यो के प्रतिपादन पर संतुष्टि जताई, तो भाजपा नेताओं को सांप सूंघ गया और प्रदेश सरकार को बदनाम करने के कुचसित प्रयासों पर विराम भी लग गया है।

कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि कोरोना महामारी के समय भाजपा नेता मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और प्रदेश सरकार को बदनाम कर रहे थे। सरकार विरोधी दुष्प्रचार कर रहे थे, जबकि कोरोना संबंधी सीपी ग्राम पोर्टल में कुल 1028 शिकायतें प्राप्त हुई थी। इसमें से शत प्रतिशत (1027) शिकायतों का निराकरण राज्य सरकार ने कर दिया था। छत्तीसगढ़ श्रम विभाग द्वारा 12.57 करोड़ रूपए का वितरण कुल 18087 श्रमिकों को कोरोना महामारी के दौरान किया गया। इस दौरान 29.35 लाख लोगों को मनरेगा के माध्यम से कोरोना महामारी के दौरान रोजगार से लाभान्वित किया गया। प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर भारत स्वनिधी योजना के अंतर्गत छत्तीसगढ़ की रैंकिंग पूरे देश में सातवें स्थान पर रही है तथा कुल 50753 आवेदन प्राप्त हुए, जिनमें से 15076 प्रकरणों में राशि का वितरण सभी हितग्राहियों को डिजिटल माध्यम से किया जा चुका है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने प्रदेश की भूपेश सरकार द्वारा किये गये जनहितैषी कार्यो की भूरी-भूरी प्रसंशा करते हुवे धन्यवाद भी दिया।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button