एसएनसीयू बना नवजात बच्चों का काल,2 दिनों में 29 नवजातों ने तोड़ा दम

मध्य प्रदेश के गुना और रायसेन में शिशुओं की मौत के मामले उजागर

भोपाल। विशेषज्ञ डॉक्टरों की कमी मध्यप्रदेश में नवजात शिशुओं के लिए मौत का कारण बन चूका है। सरकार नें नवजात बच्चों के बेहतर इलाज के लिए यूनिसेफ के सहयोग से चुनिंदा जिला अस्पतालों में स्थापित की गईं एसएनसीयू का निर्माण कराया था।

लेकिन विशेषज्ञ डॉक्टरों को उपल्बध नहीं करा पाएं। डॉक्टरों की कमी से बीते 2 दिनों में 29 नवजातों की मौत हो चूकी है।

इसी माह मध्य प्रदेश के गुना और रायसेन में शिशुओं की मौत के मामले उजागर हुए हैं। इस दौरान चार से सात जुलाई तक एसएनसीयू के शिशु सिर्फ नर्सो के भरोसे रहे थे, जिनसे एक बच्चे की मौत हो गई थी।

वहीं, छह को भोपाल रेफर कर दिया गया था। इनमें से भी एक शिशु ने भोपाल के निजी अस्पताल में दम तोड़ दिया था।

new jindal advt tree advt
Back to top button