समाधान शिविरों में ही आनलाइन होगा श्रम विभाग में पंजीयन

ग्रामीणों ने कहा, 25 साल पहले बनी थी टंकी, अब आबादी बढ़ी, कलेक्टर ने कहा 15 लाख की लागत से बनेगी टंकी

राजनांदगांव : समाधान शिविरों में ही आनलाइन श्रम विभाग में पंजीयन हो सकेगा। कलेक्टर ने बडग़ांवचारभाठा स्थित समाधान शिविर में यह निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आनलाइन आवेदन दिए जाने से मौके पर ही समाधान शिविर में ही कार्ड वितरित किए जा सकेंगे। उन्होंने कहा कि शासन द्वारा मई महीने में श्रम विभाग के बड़े कैंप का आयोजन किया जाएगा, इसमें हितग्राहियों को श्रम विभाग की योजनाओं से संबंधित सामग्री दी जाएगी।

इस मौके पर ग्रामीणों ने कलेक्टर से कहा कि बडग़ांवचारभाठा में 25 साल पहले पानी टंकी का निर्माण किया गया था, अब आबादी बढ़ गई है इसलिए नई टंकी चाहिए। कलेक्टर ने कहा कि 15 लाख रुपए की लागत से नई टंकी का निर्माण करा दिया जाएगा जिससे पेयजल की दिक्कत पूरी तरह दूर हो जाएगी। शिविर में कलेक्टर ने बताया कि नादिया के लिए भी नलजल योजना स्वीकृत कर ली गई है इसकी लागत भी 15.85 लाख रुपए होगी।

कलेक्टर ने कहा कि पेयजल प्रशासन के लिए सबसे पहली प्राथमिकता है। इसके लिए राइजर पाइप, एक्टेंशन पाइप या नया बोर जो भी जरूरी हो उपलब्ध कराया जाएगा। कलेक्टर ने कहा कि चौदहवें वित्त एवं मूलभूत की राशि से पेयजल से संबंधित छोटे-छोटे काम कराये जा सकते हैं ताकि पंचायतों में ऐसी समस्याओं का त्वरित रूप से निराकरण किया जा सके। उन्होंने कहा कि जो भी आवेदक सौर सुजला योजना का लाभ लेना चाहते हैं वे अपना आवेदन दे सकते हैं।

ग्रामीणों ने इस मौके पर बघमार पुलिया की स्वीकृति की माँग की। कलेक्टर ने कहा इसका काम मनरेगा के माध्यम से किया जाएगा। कलेक्टर ने इस मौके पर उज्ज्वला योजना के लिए आवेदन देने वाले हितग्राहियों से कहा कि जो लोग पिछली बार पात्रता सूची का हिस्सा नहीं बन पाये हैं। वे अगर अंत्योदय श्रेणी, अनुसूचित जाति अथवा अनुसूचित जनजाति से हैं तो उन्हें उज्ज्वला योजना का लाभ मिल सकेगा, इस संबंध में शासन द्वारा कार्य किया जा रहा है।

कलेक्टर ने ग्रामीणों को बताया कि सूखा पीडि़त किसानों की 119 करोड़ रुपए की राशि बैंकों को हस्तांतरित की जा चुकी है। कुछ किसानों के बैंक खातों का नंबर सही नहीं होने के कारण बैंकों द्वारा इनका अब तक भुगतान नहीं हो पाया है। खातों का नंबर सही कर इसे पुन: बैंकों के पास भेज दिया गया है। उन्होंने कहा कि दस दिनों के भीतर सभी किसानों के खाते में सूखा राहत की राशि आ जाएगी। इस मौके पर जिला पंचायत सीईओ चंदन कुमार ने किसानों से फसल बीमा योजना के संबंध में पूछा।

सभी किसानों ने बताया कि उन्होंने बीमा कराया है। इस पर कलेक्टर भीम सिंह ने कहा कि सूखा राहत और बीमा इन दोनों माध्यमों से इस बार खराब फसल में आपकी सुरक्षा हुई है। हम लोग लोक सुराज के मौके पर आपके पास आपके चेहरों में खुशी देखने आए हैं और आपकी समस्याएँ दूर करनेए माँगे पूरी करने का पूरा प्रयास किया है। जिला पंचायत सीईओ चंदन कुमार ने 21 मार्च को होने वाली ग्राम सभा में भाग लेने का आग्रह सभी ग्रामीणों से किया ताकि पीएम आवास के पात्र लोगों को चिन्हांकित कर इसकी सूची अग्रिम कार्रवाई के लिए भेजी जा सके।

advt
Back to top button