कुछ घरेलू तरीके जो बच्चों को तुरंत दिलाएंगे डायरिया से निजात

गलत खान-पान या बदलते मौसम के कारण बच्चों को डायरिया का कारण

गर्मियों की मौसम अपने साथ-साथ कई बीमारियां लेकर आता है, जिसमें से डायरिया भी एक है। डायरिया यानि दस्त, यह एक ऐसी बीमारी है जिसमें शरीर के अंदर पानी और नमक दोनों ही खत्म हो जाता है। ज्यादातर डायरिया की समस्या बच्चों में देखने को मिलती हैं। बच्चों को डायरिया होने पर पेरेंट्स अक्सर परेशान हो जाते हैं लेकिन आज हम आपको कुछ ऐसे तरीकें बताएंगे, जिससे बच्चों की यह समस्या मिनटों में दूर हो जाएगी। दरअसल, गलत खान-पान या बदलते मौसम के कारण बच्चों को डायरिया हो जाता है लेकिन इससे परेशान होने की जरूर नहीं। आप कुछ घरेलू तरीके अपनाकर आप बच्चों की इस समस्या को दूर कर सकते हैं।

डायरिया लगने के कारण

अगर आप बच्चों को लंबे समय तक एंटीबायोटिक्स दे रहे हैं तो यह डायरिया का कारण बनता है। इसके अलावा बच्चों में डायरिया होने के कई कारण हो सकते हैं।
मां के दूध में पौष्टिकता की कमी
पेट में गर्मी हो जाना
दांत निकालते समय
दूषित या गलत खानपान
पानी का साफ न होना

बच्चों में डायरिया के घरेलू उपचार

1. बच्चे को डायरिया होने पर उसे एक गिलास पानी में 2 चम्मच शक्कर, चुटकी भर नमक और नींबू के रस की कुछ बूंदें मिलाकर पिलाएं। बच्चों को इससे तुरंत आराम मिल जाएगी।

2. डायरिया लगने पर सौंफ के चूर्ण को पानी में अच्छी तरह भिगोएं। इसके बाद इसमें बेलगिरी मिलाकर बच्चे को पिलाएं।

3. नारियल पानी पिलाना भी डायरिया में फायदेमंद होता है। बच्चे को कच्चे नारियल का पानी पिलाएं। इससे उन्हें जरूरी पोषक तत्व भी मिलेंगे और डायरिया से राहत भी मिलेगी।

4. अनार के छिलकों को सुखाकर चूर्ण बना लें। फिर इस चूर्ण को शहद में मिलाकर बच्चे को दिन में 3-4 बार चाटने को दें। डायरिया की समस्या दूर हो जाएगी।

5. अगर आपका बच्चा बहुत छोटा है तो उसे दाल का पानी, चावल का मांड, दही केला, हल्की चाय व हल्का पाचक भोजन दें।

6. 2-3 ग्राम बेलफल का पेस्ट बना लें और गूदे को दिन में 2-3 बार बच्चे को खिलाएं। इसके अलावा आप उन्हें जायफल के चूर्ण को गुनगुने पानी के साथ दिन में 2-3 बार दें। इससे भी बच्चे को काफी फायदे मिलेगा।

7. राइस कंजी डायरिया के लिए एक बेहतरीन घरेलू उपाय है। एक मुट्ठी राइस पाउडर पानी में मिलाकर कम से कम 10 मिनट पकाएं। इसमें हल्‍का नमक और बाद में कम से कम एक लीटर पानी मिलाकर पतला कर लें। अब इसे बच्‍चे को पिलाएं।

new jindal advt tree advt
Back to top button