संपत्ति के लिए बेटे ने पिता को जंजीरों में बांधा, 9 दिन बाद पुलिस ने छुड़ाया

पुलिस ने बताया कि पूछताछ में पड़ोसियों ने बताया कि राजेश शराबी है

संपत्ति के लिए बेटे ने पिता को जंजीरों में बांधा, 9 दिन बाद पुलिस ने छुड़ाया

उत्तर प्रदेश के आगरा में बाप-बेटे के रिश्तों को तार-तार करने का मामला सामने आया है। प्रॉपर्टी के लालच में एक कलयुगी बेटे ने मां के साथ मिलकर पिता को 9 दिनों तक जंजीरों से बांधकर रखा। मामला तब सामने आया जब पिता ने गुपचुप तरीके से एक पर्ची लिखकर खिड़की के बाहर फेंकी। पुलिस ने पिता को कैद से छुड़वाया। उन्होंने आरोपी पत्नी और बेटे के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है।

आगरा के थाना हरीपर्वत के संजय प्लेस में नारायण टॉवर है। यहां फ्लैट नंबर 207 में व्यवसायी राजेश बंसल (62) का घर है। वह यहां पत्नी नीलम और बेटे निमित्त के साथ रहते हैं। शुकवार को टॉवर के सिक्यॉरिटी गार्ड राजबीर ने बताया कि एक दूसरा गार्ड योगेंद्र राउंड पर था। उसी समय उसे एक पर्ची पड़ी मिली। इस पर्ची में लिखा था कि ‘मुझे मेरे बेटे और पत्नी ने जंजीर से बांध रखा है मेरी मदद करो।’ नीचे राजेश बसंल ने अपना नाम लिखा था।

गार्ड ने ऊपर देखा तो राजेश मदद की गुहार लगा रहे थे। गार्ड ने सोसायटी के लोगों को घटना बताई। लोगों ने पुलिस को इसकी सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने राजेश बंसल को कैद से छुड़ाया।

राजेश ने बताया कि उनकी पत्नी और बेटे ने पहले उन्हें रस्सी से बांधकर जमीन पर छोड़ दिया। बाद में उन लोगों ने उन्हें लोहे की जंजीर से बांध दिया। उन्हें 8 फरवरी से कैद में रखा गया था। पिछले दो दिनों से उन्हें पीने के लिए पानी तक नहीं दिया। बेटा अपने पिता को लात से मारता था।

पुलिस ने बताया कि पूछताछ में पड़ोसियों ने बताया कि राजेश शराबी है। वह कई बार शराब पीकर परिवार के साथ झगड़ा-लड़ाई करता था। उनका परिवार पड़ोसियों से बातचीत नहीं करता था। निमित्त को लगता था कि उनके पिता की हरकतों से वह सपंत्ति खो देगा। निमित्त अभी अपने पिता का कारखाना संभालता है।

हरिपर्वत थानाध्यक्ष महेश चंद्र गौतम ने बताया कि जब वह घर में पहुंचे तो राजेश के दोनों पैरों में छाले पड़े थे। लोहे की जंजीरों में बंधे होने के कारण पैरों से खून निकल रहा था। उन्होंने पुलिस को शरीर के घाव दिखाए और हाथ जोड़ते हुए जान बचाने को कहा।

new jindal advt tree advt
Back to top button