सोनिया गांधी के करीबी अहमद पटेल के घर पहुंचाई गई 25 लाख रुपये की रिश्वत : जांच एजेंसी

रंजीत मलिक उर्फ जॉनी को ईडी ने 5,000 करोड़ रुपये के बैंक लोन फ्रॉड मामले में गिरफ्तार किया है।

नई दिल्ली : कांग्रेस के एक और कद्दावर नेता को जल्द ही दिल्ली में ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) के मुख्यालय जाना पड़ सकता है. मनी लॉन्ड्रिग के मामले में गिरफ्तार किए गए रंजीत मलिक नाम के एक शख्स ने बड़ा खुलासा किया है।

रंजीत ने आरोप लगाते हुए कहा कि उसने सोनिया गांधी के करीबी और कांग्रेस के राज्यसभा सांसद अहमद पटेल के आधिकारिक निवास पर 25 लाख रुपये कैश भेजा था।

रंजीत मलिक उर्फ जॉनी को ईडी ने 5,000 करोड़ रुपये के बैंक लोन फ्रॉड मामले में गिरफ्तार किया है ।ड्यूटी मजिस्ट्रेट भावना कालिया ने रंजीत मलिक की रिमांड अवधि बढ़ा दी है।

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की तरफ से कोर्ट में पेश हुए विशेष अभियोजक नीतीश राणा ने कोर्ट को जानकारी दी कि आरोपी को पूछताछ के लिए और तीन दिन की कस्टडी में लिया गया था।

कांग्रेस ने कहा-साहस नहीं, सत्ता की लालच के लिए ध्रुवीकरण का प्रयास कर रही BJP ईडी ने कोर्ट को बताया कि मलिक ने राकेश चंद्रा नाम के एक शख्स के हाथों अहमद पटेल के सरकारी आवास- 23 मदर टेरेसा क्रेसेंट पर एक बड़ी राशि भेजी थी।

ईडी ने कोर्ट से कहा है कि उसके पास इसके सबूत हैं। वहीं इस बारे में कांग्रेस नेता ने कहा, ‘इस बारे में मैं कुछ नहीं जानता। कानून अपना काम करेगा।’वहीं अहमद पटेल के ऑफिस की तरफ से एक टीवी चैनल को दी गई जानकारी के अनुसार, ‘यह सभी आरोप बेबुनियाद हैं।

उनके खिलाफ अगस्ता वीआईपी चॉपर केस में भी आरोप लगाए थे वो भी आधारहीन थे।’आपको बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय ने पिछले साल दिसंबर में 5000 करोड़ के घोटाले के मामले में दिल्ली से एक उद्योगपति गगन धवन को गिरफ्तार किया था। गगन धवन को भी कांग्रेस नेता अहमद पटेल का करीबी बताया जाता है।

Back to top button