जल्द हो सकती है अभिनंदन की स्वदेश वापसी, सरकार कर रही कड़ी कार्यवाही

भारतीय उच्चायोग ने पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय को एक डेमार्श सौंपा

नई दिल्‍ली: भारत की ओर से जैश के आतंकी ठिकानों पर की गई हवाई कार्रवाई से बौखलाया पाकिस्तान ने सीज फायर का उलंघन करने की कोशिश की जिसे रोकते हुए हमारा एक पायलट लापता हो गया। जोकि बाद में पता चला कि वह पाकिस्तान के हिरासत में है.

जिसके बाद भारत और पाकिस्तान के बीच बुधवार को हवाई संघर्ष के बाद पाकिस्तान ने भारतीय वायुसेना के पायलट विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान को हिरासत में लिए जाने के बाद उनकी जल्‍द स्‍वदेश वापसी हो सकती है. इसके लिए भारत सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है.

सूत्रों के अनुसार, पाकिस्‍तान स्थित भारतीय उच्‍चायोग ने पाकिस्‍तान के विदेश मंत्रालय को एक डेमार्श (एक राजनीतिक कदम या पहल) सौंपा है, ताकि विंग कमांडर अभिनंदन की जल्‍द सुरक्षित वापसी हो सके. एक ऐसा ही डेमार्श नई दिल्‍ली स्थित पाकिस्‍तान के कार्यकारी उच्‍चायुक्‍त को भी सौंपा गया है. न्‍यूज एजेंसी एएनआई के हवाले से यह जानकारी मिली है.

सूत्रों के अनुसार, भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर की जल्‍द रिहाई सुनिश्चित करने के लिए भारत और पाकिस्‍तानी विदेश मंत्रालय के बीच शीर्ष स्‍तर पर वार्ता चल रही है. बीते गुरुवार को भी विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान के कार्यवाहक उच्चायुक्त सैयद हैदर शाह को तलब कर भारतीय पायलट की तत्काल और सकुशल रिहाई की मांग की थी.

मंत्रालय ने कहा कि भारत ने पाकिस्तान को यह भी स्पष्ट कर दिया है कि भारतीय रक्षाकर्मी को कोई नुकसान नहीं पहुंचाया जाना चाहिए. इसके साथ ही एक घायल रक्षा कर्मी को पड़ोसी देश द्वारा अंतरराष्ट्रीय मानवीय कानून और जिनेवा संधि के नियमों का उल्लंघन कर ‘‘अशोभनीय तरीके से दिखाए जाने पर’’ भी भारत ने सख्त ऐतराज जताया है.

Back to top button