मनोरंजन

नागरिकता कानून मामले में बेटी सना के सपोर्ट में आए सौरव गांगुली

बेटी की पोस्ट वायरल होने के बाद सौरव ने किया बचाव

नई दिल्ली: नागरिकता कानून पर देश भर में हिंसा की आग फैली हुई है. देश के हर राज्य में इस कानून के खिलाफ आंदोलन व जगह जगह प्रदर्शन हो रहे है. कई जगहों पर बस-ट्रेन रोकी जा रही है. यातायात बाधित की जा रही है.

वही खबर आ रही है कि सोशल मीडिया पर एक इंस्टाग्राम पोस्ट का स्क्रीनशाट वायरल हुआ है जो बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली की बेटी सना गांगुली के नाम से है. इसमें खुशवंत सिंह के उपन्यास ‘द एंड आफ इंडिया’ से कुछ पंक्तियां डाली हुई है.

इसमें कहा गया है, ”नफरत की बुनियाद पर खड़ा किया गया आंदोलन लगातार भय और संघर्ष का माहौल बनाकर ही जीवित रह सकता है. जो यह सोचते हैं कि मुसलमान या ईसाई नहीं होने की वजह से वे सुरक्षित हैं तो वे मूर्खों की दुनिया में जी रहे हैं.”

इसके बचाव में बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा कि उनकी बेटी को किसी भी तरह की राजनीति से अलग रखना चाहिये. भारत के पूर्व कप्तान ने कहा कि इंस्टाग्राम पोस्ट ‘सच नहीं’ है. उन्होंने ट्वीट किया, ‘कृपया सना को इन सब मामलों से दूर रखे. वह पोस्ट सच नहीं है. वह बहुत छोटी है और राजनीति के बारे में कुछ नहीं जानती.’

इसमें यह भी कहा गया, ”संघ पहले ही से वामपंथी इतिहासकारों और पश्चिमोन्मुखी युवाओं को निशाना बना रहा है. कल स्कर्ट पहनने वाली महिलाओं, मांस खाने वाले लोगों, शराब पीने, विदेशी फिल्में देखने वालों से भी नफरत में बदल जायेगा.

दंतमंजन की जगह टूथपेस्ट का इस्तेमाल करो, वैद्य की जगह एलोपैथिक डाक्टर के पास जाओ, जय श्रीराम का नारा लगाने की बजाय हाथ मिलाओं या चुंबन दो. कोई भी सुरक्षित नहीं है. अगर भारत को जिंदा रखना है तो हमें यह समझना होगा.”

Tags
Back to top button