तीन वर्षीय सामरिक कार्यक्रम पर दक्षिण अफ्रीका ने लगाई मुहर

चीफ गेस्ट के तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेजा था न्योता

नई दिल्ली: गणतंत्र दिवस समारोह पर चीफ गेस्ट के तौर पर भारत आए साउथ अफ्रीका के राष्ट्रपति सायरिल रामफोसा और पीएम मोदी के बीच हुई वार्ता के दौरान तीन वर्षीय सामरिक कार्यक्रम पर भारत एवं दक्षिण अफ्रीका ने मुहर लगाई है।

गणतंत्र दिवस समारोह पर साउथ अफ्रीका के राष्ट्रपति सायरिल रामफोसा को चीफ गेस्ट के तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को न्योता भेजा था, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया। हालांकि, इससे पहले पीएम मोदी ने 2019 गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को न्योता दिया था।

लेकिन व्हाइट हाउस के मुताबिक समय की कमी के कारण अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत आने का न्योता स्वीकार नहीं किया था। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आगामी यात्रा, ‘भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच सीमेंट संबंधों’ में मदद करेगी।

एक और ट्वीट में उन्होंने कहा था, ‘दक्षिण अफ्रीका के साथ बापू के करीबी संबंध को सभी जानते हैं।’ बता दें की, सायरिल रामाफोसा, जैकब जूमा के इस्तीफे के बाद दक्षिण अफ्रीका के पांचवें राष्ट्रपति बने। साथ ही, 2014 से 2018 के दौरान दक्षिण अफ्रीका के उप राष्ट्रपति भी रहे।

व्हाइट हाउस के प्रवक्ता ने बयान दिया था कि, ‘राष्ट्रपति ट्रंप को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कि ओर से 26 जनवरी, 2019 भारत के गणतंत्र दिवस के अवसर पर मुख्य अतिथि बनने हेतु निमंत्रण से सम्मानित किया गया था, लेकिन समय की कमी के कारण ट्रंप भाग लेने में असमर्थ हैं।’

1
Back to top button