Warning: mysqli_real_connect(): Headers and client library minor version mismatch. Headers:50562 Library:100138 in /home/u485839659/domains/clipper28.com/public_html/wp-includes/wp-db.php on line 1612
दक्षिण अफ्रीकी संसद ने रामापोसा को चुना नया राष्ट्रपति

दक्षिण अफ्रीकी संसद ने रामापोसा को चुना नया राष्ट्रपति

रामापोसा को दक्षिण अफ्रीका का नया राष्ट्रपति निर्विरोध चुन लिया गया. रामापोसा को गुरुवार को दोपहर नेशनल असेम्बली में निर्विरोध चुना गया. असेम्बली में गा कर इस घोषणा का स्वागत किया गया.

राष्ट्रपति जैकब जुमा के इस्तीफा देने के कुछ ही घंटे बाद सायरिल रामापोसा को दक्षिण अफ्रीका का नया राष्ट्रपति निर्विरोध चुन लिया गया. रामापोसा को गुरुवार को दोपहर नेशनल असेम्बली में निर्विरोध चुना गया. असेम्बली में गा कर इस घोषणा का स्वागत किया गया. 65 वर्षीय नेता को दो माह पहले अफ्रीकन नेशनल कांग्रेस (एएनसी) का नया अध्यक्ष चुना गया था. 75 वर्षीय जुमा ने कल रात इस्तीफा दे दिया था. इससे पहले एएनसी के राष्ट्रीय नेतृत्व ने उन्हें पद छोड़ने अथवा संसद में अविश्वास प्रस्ताव का सामना करने का आदेश दिया था. संसद में एएनसी को विशाल बहुमत हासिल है.

[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”अगर आप पढ़ना नहीं
चाहते तो क्लिक करे और सुने”]

दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति जैकब जुमा ने दिया इस्तीफा
दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति जैकब जुमा ने अपनी सत्तारूढ़ पार्टी अफ्रीकन नेशनल कांग्रेस (एएनसी) के साथ चल रहे गतिरोध को खत्म करते हुए राष्ट्रपति पद से इस्तीफा दे दिया. एएनसी उन्हें पद से हटाने के लिए विपक्षी पार्टी के साथ मिलकर संसद में अविश्वास प्रस्ताव लाने की योजना बना रही थी. जुमा का यह इस्तीफा सोमवार को तड़के एएनसी के राष्ट्रीय नेतृत्व की एक मैराथन बैठक के तीन दिन बाद आया है. इसी बैठक में जुमा से इस्तीफा मांगने का निर्णय लिया गया था. हालांकि उन्होंने तब पद से इस्तीफा देने से इंकार कर दिया था.

जुमा ने राष्ट्रीय प्रसारण में कहा, मैं दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति पद से तत्काल प्रभाव से इस्तीफा देता हूं. इसके साथ ही जुमा का नौ साल का कार्यकाल दूसरे और अंतिम कार्यकाल से नौ महीने पहले खत्म हो गया. उनका कार्यकाल साल 2019 के आम चुनाव के साथ खत्म होना था. जुमा अब भी एएनसी द्वारा उनकी जगह साइरिल रामाफोसा को राष्ट्रपति बनाए जाने फैसले को गलत बता रहे हैं. एएनसी ने दो महीने पहले रामाफोसा का चयन नए राष्ट्रपति के रूप में किया था.

जुमा ने कहा, मैं अपने संगठन के नेतृत्व के फैसले से असहमत हूं लेकिन मैं हमेशा इस संगठन का अनुशासित सदस्य रहा हूं. उन्होंने इस संगठन में अपनी सेवा बरकरार रखने का वचन दिया है. जुमा इस पार्टी में एक किशोर के रूप में अल्पसंख्यक श्वेत रंगभेद सरकार के खिलाफ निर्वासन से लड़ने के लिए शामिल हुए थे.

‘मैं किसी अविश्वास प्रस्ताव या महाभियोग ने नहीं डरता’
संसद में अपनी पार्टी द्वारा कार्रवाई के जरिए हटाए जाने की संभावना पर टिप्पणी करते हुए उन्होंने कहा, मैं किसी अविश्वास प्रस्ताव या महाभियोग से नहीं डरता हूं. ये सारे तरीके इस खूबसूरत देश के लोगों के लिए अपने राष्ट्रपति को हटाने का एक वैध तंत्र है.

गौरतलब है कि जुमा के खिलाफ पहले भी विपक्षी दलों ने अविश्वास प्रस्ताव रखा है, लेकिन जुमा की सरकार को उससे कोई फर्क नहीं पड़ा. ऐसी संभावना है कि उप राष्ट्रपति साइरिल रामाफोसा अंतरिम राष्ट्रपति तब तक के लिए बनेंगे जब तक नए राष्ट्रपति के चयन की प्रक्रिया संसदीय तरीके से पूरी नहीं हो जाती है.

new jindal advt tree advt
Back to top button