साउथ सुपरस्टार ध्रुव सरजा की फिल्म पर बवाल, ब्राह्मण समाज का अपमान करने का आरोप

बहुत सारा गुस्सा है और कई जगहों पर इसकी स्क्रीनिंग रोकने की मांग हो रही

मुंबई:साउथ सुपरस्टार ध्रुव सरजा की फिल्म पोगारू को लेकर आरोप है कि इसने ब्राह्मण समाज का अपमान किया है. फिल्म को लेकर बवाल है, बहुत सारा गुस्सा है और कई जगहों पर इसकी स्क्रीनिंग रोकने की मांग हो रही है.

पोगारू फिल्म को लेकर बवाल क्यों?

नंदकिशोर निर्देशित इस फिल्म में एक ऐसा सीन दिखाया गया है जहां पर कुछ गुंडे एक हवन कर रहे ब्राह्मण के साथ बदसलूकी करते हैं, उसके कंधे पर पैर रखते हैं. उस एक सीन की वजह से ब्राह्मण समाज का गुस्सा सातवें आसमान पर है और कई नेताओं ने इस पर बयानबाजी करना भी शुरू कर दिया है. बढ़ते बवाल के बाद ही फिल्म मेकर्स ने Karnataka Film Chamber of Commerce और ब्राह्मण बोर्ड चेयरमैन से मुलाकात की और फिल्म से 14 विवादित सीन हटाने पर सहमति बनी.

फिल्म को लेकर जबरदस्त राजनीति

डायरेक्टर की तरफ से जोर देकर कहा गया कि वे किसी भी समुदाय का अपमान नहीं करना चाहते थे. वहीं दर्शकों को भी भरोसा दिलाया गया कि काटे गए सीन्स की वजह से फिल्म पर कोई असर नहीं पड़ेगा. अब मेकर्स की तरफ से विवाद को शांत करने की कोशिश जरूर हो रही है, लेकिन नुकसान हो चुका है. फिल्म को लेकर एक विशेष समुदाय के मन में काफी आक्रोश है. बीजेपी सासंद Shoba Karandlaje ने इस पर कहा- हिंदुओं का अपमान करना अब ट्रेंड बन गया है. वे कहती हैं- हिंदुओं का अपमान करना और हमारी भावनाओं को ठेस पहुंचाना नया ट्रेंड है.

क्या किसी दूसरे धर्म को ऐसे दिखा सकते हैं?

इस फिल्म की स्क्रीनिंग रोक देनी चाहिए जब तक हर विवादित सीन हटा ना लिया जाए. इसे नजरअंदाज नहीं किया जा सकता. वहीं एक पत्रकार ने यहां तक आरोप लगाया कि फिल्म के खिलाफ बोलने की वजह से ध्रुव सरजा के फैन्स ने सोशल मीडिया पर ट्रोलिंग शुरू की और जान से मारने की धमकी भी मिली. उनके मुताबिक Dhruva Boys Karnataka के नाम से एक वाट्स एप ग्रुप बनाया गया है जहां पर सीधे-सीधे जान से मारने की धमकी दी जा रही है.

अब अभी के लिए Karnataka Film Chamber of Commerce की तरफ से पत्रकार के आरोपों को ज्यादा गंभीरता से नहीं लिया गया है और समझाया गया है कि फैन्स की नाराजगी की वजह से ये ट्रोलिंग देखने को मिल रही है. वैसे इस बड़े बवाल पर अभी तक ध्रुव सरजा और फीमेल लीड रश्मिका मंदाना की तरफ से रिएक्शन नहीं आया है.

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button