बाबा बर्फानी के भक्तों के लिए पूजा करवाने की विशेष व्यवस्था

48 घंटे में घर पहुंचेगा प्रसाद

दिल्ली: बाबा बर्फानी के भक्तों के लिए लाइव दर्शन और आरती के बाद जम्मू-कश्मीर प्रशासन एक और सौगात लेकर आया है। श्री अमरनाथ जी के भक्तों को एक व्यक्तिगत अनुभव प्रदान करने के लिए उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने मंगलवार को श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड की कई ऑनलाइन सेवाओं का शुभारंभ किया।

भक्तों तक घर पहुंचेगा प्रसाद

दरअसल, कोविड-19 महामारी के कारण इस वर्ष श्री अमरनाथ जी की पवित्र गुफा के दर्शन करने में असमर्थ लाखों भक्तों के लिए श्राइन बोर्ड वर्चुअल मोड के तहत दर्शन, हवन और प्रसाद सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। भक्त अपनी पूजा, हवन और प्रसाद ऑनलाइन बुक कर सकते हैं और पवित्र गुफा के पुजारी इसे भक्त के नाम पर प्रसाद चढ़ाएंगे और प्रसाद बाद में भक्तों के दरवाजे पर पहुंचाया जाएगा।

इस बारे में उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड की नई ऑनलाइन सेवाओं के शुभारंभ के साथ दुनिया भर से भगवान शिव के भक्त पवित्र गुफा में ऑनलाइन आभासी पूजा और हवन कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि इस पहल के माध्यम से भक्तों के लिए ऑनलाइन प्रसाद बुकिंग सेवा का भी विस्तार किया गया है।

इस तरह करा सकते हैं पूजा

वहीं सीईओ एसएएसबी नीतीश्वर कुमार ने कहा कि श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड भक्तों के लिए वर्चुअल पूजा, नाम से वर्चुअल हवन (दर्शन के साथ) और ऑनलाइन प्रसाद बुकिंग सहित ऑनलाइन सेवाओं का विस्तार कर रहा है।
उन्होंने कहा कि ऑनलाइन सेवाओं को 6 जुलाई से वर्चुअल पूजा के लिए 110 रुपये का भुगतान करके, 1100 रुपये प्रसाद बुकिंग के लिए (अमरनाथ जी के 5 ग्राम चांदी के सिक्के के साथ), 2100 रुपये प्रसाद बुकिंग के लिए (अमरनाथ जी के 10 ग्राम चांदी के सिक्के के साथ) 5100 रुपये विशेष हवन या उपरोक्त में से किसी के संयोजन के लिए अमरनाथ जी श्राइन बोर्ड की वेबसाइट के माध्यम से बुक ऑनलाइन पूजा/हवन/प्रसाद लिंक पर क्लिक करके और बोर्ड के मोबाइल एप्लिकेशन के माध्यम से डाउनलोड किया जा सकता है।

एप के माध्यम से भक्त आभासी ऑनलाइन कमरे में करेंगे पूजा

उन्होंने कहा कि आभासी पूजा या हवन पवित्र गुफा पुजारी द्वारा गुफा मंदिर में मंत्रों और श्लोकों के जाप के साथ भक्त के नाम और गोत्र का उच्चारण करके किया जाएगा। उन्होंने कहा कि भक्तों को जियो मीट एप्लिकेशन के माध्यम से एक आभासी ऑनलाइन कमरे में जाने दिया जाएगा, जिसमें उनके नाम पर एक विशेष आभासी पूजा और पवित्र बर्फ लिंगम के दर्शन होंगे।

48 घंटे के अंदर प्रसाद पहुंचाने की व्यवस्था

नीतीश्वर कुमार ने कहा कि हम 48 घंटे के भीतर प्रसाद भेजने के लिए डाक विभाग के साथ व्यवस्था कर रहे हैं। यह पोर्टल को श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड द्वारा राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र, जम्मू-कश्मीर की मदद से विकसित किया गया है।

बता दें कि श्राइन बोर्ड ने पहले ही टीवी और डिजिटल दोनों प्लेटफार्मों पर भगवान शिव की पवित्र गुफा से सुबह और शाम की आरती के लाइव प्रसारण की व्यवस्था की है क्योंकि यात्रा को लगातार दूसरे वर्ष कोविड वृद्धि के मद्देनजर रद्द किया गया था। इसी के तहत प्रसार भारत के दूरदर्शन और पीबीएनएस पर भी आरती का हर रोज लाइन प्रसारण किया जाता है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button