छत्तीसगढ़बड़ी खबर

छत्तीसगढ़ / कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए वृद्धाश्रमों में विशेष देखभाल

बुजुर्गाें सहित सभी जरूरतमंद लोगों के स्वास्थ्य और पोषण का रखा जा रहा पूरा ध्यान 

रायपुर: कोरोना वायरस(Covid-19) संक्रमण का वरिष्ठ नागरिकों पर अधिक प्रभाव के जोखिम को ध्यान में रखते हुए छत्तीसगढ़ के  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा दिये गए दिशानिर्देश पर समाज कल्याण विभाग अंतर्गत संचालित वृद्धाश्रमों में विशेष प्रबंध किये गए हैं। बुजुर्गों के स्वास्थ्य परीक्षण, खान-पान पर ध्यान देने सहित सेनेटाइजेशन, साफ-सफाई और मास्क की पुख्ता व्यवस्था की गई है।

सुरक्षा की दृष्टि से लाॅकडाउन के लागू होते ही बुजुर्गों के बाहर जाने और बाहरी व्यक्तियों के वृद्धाश्रम में आने-पाने पर पूरी तरह पाबंदी लगा दी गई है। ऐसे बुजुर्ग जिन्हें किसी तरह की स्वास्थ्यगत परेशानी है, उन्हें अलग कमरे में रखने के प्रबंध किये गए है। इसके साथ ही कोविड-19 संक्रमण से बचाव और रोकथाम के लिए विभागीय अमले को प्रशिक्षित किया गया है।

बुजुर्गों को भी समय-समय पर संक्रमण से बचाव की समझाईश दी जा रही है। व्यवस्थाओं का जायजा लेने विभागीय अधिकारियों द्वारा संस्थाओं की नियमित माॅनिटरिंग भी की जा रही है। लाॅकडाउन के दौरान खुद मुख्यमंत्री और विभागीय मंत्री अनिला भेंड़िया ने वृद्धाश्रम पहुंचकर बुजुर्गों के लिए की गई व्यवस्था का जायजा लिया।

उल्लेखनीय है कि प्रदेश में विभाग के अंतर्गत संचालित शासकीय और अशासकीय संस्थाओं में कई बुजुर्ग, दिव्यांग, निराश्रित, विशेष आवश्यकता वाले बच्चों सहित जरूरतमंद लोगों को आश्रय दिया गया है। वर्तमान में इन वृद्धाश्रमों में 496, निःशक्त कल्याण संस्था में 252, प्रशामक गृह में 29 और घरौंदा गृह में 127 हितग्राही निवासरत हैं।

बुजुर्गाें सहित सभी जरूरतमंद लोगों के स्वास्थ्य और पोषण का रखा जा रहा पूरा ध्यान 

विभागीय सचिव प्रसन्ना आर. ने बताया कि लाॅकडाउन लागू होते ही मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विशेष रूप से निर्देशित किया था कि बुजुर्गों को किसी तरह की परेशानी न हो और उन्हें सुरक्षित रखा जाए। उन्होंने बताया कि मंत्री अनिला भेंड़िया के मार्गदर्शन में विभाग द्वारा बुजुर्गाें सहित सभी जरूरतमंद लोगों के स्वास्थ्य और पोषण का पूरा ध्यान रखा जा रहा है।

इसके लिए वृद्धाश्रमों में चिकित्सकों द्वारा बुजुर्गाें की नियमित रूप से स्वास्थ्य जांच की जा रही है। उनके उचित खान-पान विशेष ध्यान दिया जा रहा है। संक्रमण से बचाव के लिए नियमित रूप से आश्रम को सेनिटाइज किया जा रहा है। कोरोना महामारी के संक्रमण से बचाव के लिए उचित साफ-सफाई, सेनिटाइजेशन, सामाजिक दूरी सहित जरूरी सावधानियों को ध्यान में रखा जा रहा है।

Tags
Back to top button