शराब की बिक्री पर लगा ‘स्पेशल कोरोना फीस’, केजरीवाल सरकार ने किया ऐलान

दुकानों पर भीड़, शराब की बिक्री का समय बढ़ाये जाने का सुझाव

नई दिल्‍ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 40 से अधिक दिनों के बाद शराब की दुकानें सोमवार को खुलीं और उन्हें बंद करना पड़ा क्योंकि दुकान के बाहर जमा लोग सामाजिक दूरी के नियमों का पालन नहीं कर रहे थे. भीड़ को तितर-बितर करने के लिये पुलिस को हल्का बल प्रयोग भी करना पड़ा.

वहीँ दिल्‍ली सरकार ने शराब की बिक्री पर ‘स्पेशल कोरोना फीस’ लगाने का फैसला किया है. ये नई फीस MRP पर 70% लगेगी. बढ़ी हुई दरें मंगलवार सुबह से लागू हो जाएंगी. इसके साथ ही एक्साइज कमिश्नर ने पुलिस कमिश्नर को चिट्ठी लिख कर कहा है कि शराब की दुकानों पर कानून व्यवस्था बनाने में पुलिस मदद करे.

दिल्ली में सुबह 9-6:30 बजे तक शराब की दुकानें खुलेंगी. इससे पहले शराब की दुकानों के सामाजिक दूरी के नियमों को पालन कराने में विफल रहने के बाद दिल्ली पुलिस की विशेष शाखा ने सोमवार को एक रिपोर्ट भी तैयार की और दुकानों पर भीड़ से बचने के लिए शराब की बिक्री का समय बढ़ाये जाने का सुझाव दिया.

विशेष शाखा की रिपोर्ट में कहा गया है, ‘भीड़ से बचने के लिए शराब की बिक्री का समय बढ़ाया जा सकता है और दुकानों में शराब का पर्याप्त स्टॉक उपलब्ध होना चाहिए क्योंकि लोग अपनी जरूरतों से अधिक शराब खरीदेंगे.’

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न होने पर नाराजगी

इसके साथ ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सोमवार को शहर में कुछ जगहों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न होने पर नाराजगी जाहिर की है. उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हुआ तो सील दुकान कर दी जाएगी.

केजरीवाल ने कहा कि कोरोना को हराने के लिए हमें तीन बातों का ध्यान देना होगा. इसमें घर से बाहर निकलने के दौरान मास्क अवश्य पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग और बार-बार हाथ धोना शामिल है. इन बातों का ध्यान रखते हैं, तो हम कोरोना से बच जाएंगे.

उन्होंने कहा, “कुछ जगहों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न होने पर मुझे काफी दुख हुआ. भविष्य में ऐसी शिकायतें मिलती हैं तो हमें कड़ाई करनी पड़ेगी और दी गई रियायतों को वापस लेने के लिए मजबूर होना पड़ेगा. उस दुकान या क्षेत्र को हम सील कर देंगे.”

केजरीवाल ने कहा कि डेढ़ महीने तक लॉकडाउन के बाद आज से केंद्र सरकार ने देश के अलग-अलग हिस्सों में कुछ छूट दी है. पूरे देश को रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन में बांटा गया है. ग्रीन जोन में काफी रियायतें दी गई है, तो ऑरेंज जोन में थोड़ी कम रियायतें दी गई हैं. रेड जोन में काफी कम रियायतें दी गई हैं.

हम सभी जानते हैं कि केंद्र सरकार ने पूरी दिल्ली को रेड जोन में रखा है. रेड जोन में शामिल पूरी दिल्ली के लिए काफी कम रियायतें दी गई है और केंद्र सरकार की गाइडलाइंस के विपरीत कोई भी नहीं जा सकता है. केंद्र सरकार ने जिन गतिविधियों में ढील दी है, उन सभी को हमने दिल्ली में अनुमति दी है.

Tags
Back to top button