आदिवासी गोंडवाना समाज का विशेष महोत्सव कार्यक्रम, विधिक जनजागरूकता अभियान के तहत जन समूहों को दी गई जानकारी

कापुबहरा. ग्राम स्तर पर आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र में आदिवासी गोंडवाना विशेष महोत्सव कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें लगभग 12 से 15 ग्राम के जन समूह सामिल हुए,जिनको विधिक जागरूकता अभियान के तहत जानकारी देने के उद्देश्य से सरपंच श्रीमति बृज कुंवर के आग्रह पर वर्तमान में चलाया जा रहा जनजागरूकता अभियान जो कि राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण (नालसा) नई दिल्ली के तत्वावधान एवं छत्तीसगढ़ राज्य विधिक सेवा के मार्गदर्शन में आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत अखिल भारतीय जागरूकता एवं आउटरीच अभियान के बैनर तले तालुका विधिक सेवा समिति कटघोरा की टीम पी. एल. वी. विजय लक्ष्मी सोनी,रविशंकर सागर,सूर्यकांत तिवारी एवं अधिवक्ता आशीष कुमार कंवर के द्वारा भव्य रूप में शिविर संपन्न किया गया।शिविर में लभगभ 12 से 15 जन समूह ग्राम पंचायत में आकर एकत्रित हुए,जनसमूह में लभगभ दस हजार की संख्या में उपस्थित लोगों को विधिक जानकारी देकर लाभांवित किया गया।

इस अभियान के तहत पी एल वी विजय लक्ष्मी सोनी द्वारा लोक अदालत,वृहद लोक अदालत एवं नेशनल लोक अदालत की विशेष जानकारी प्रदान की तथा महिला उत्पीड़न मध्यस्थता एवम सुलह समय की जरूरत,विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा किया जा रहा विशेष जागरूकता अभियान के बारे में जानकारी प्रदान किया गया।पी एल वी रविशंकर सागर के द्वारा टोल फ्री नंबर 15100 की जानकारी,1098 चाईल्ड लाइन नंबर,181 महिला उत्पीड़न, टोनही प्रताड़ना अधिनियम 2005,विधिक सहायता योजना अनुसार जनजाति और परम्परागत वन निवासी अधिकार 2007 आदि की जानकारी दी गई।ईस प्रकार विधिक जागरूकता अभियान से प्रभावित हुए जनसमूह द्वारा राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण ,राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण एवम तालुका विधिक सेवा समिति के माननीय अध्यक्ष महोदय,सचिव महोदय एवम न्यायालय को धन्यवाद दिया गया।

विधिक सेवा प्राधिकरण जनजागरूकता शिविर के तहत नागरिको को कानून की जानकारी प्राप्त हो रही है और शिविर में दिए जा रहे नम्बरो के माध्यम से अपनी समस्याओं का निराकरण करने विधिक सेवा की मदद ले रहे हैं।ग्रामीणों का कहना है कि विधिक सेवा प्राधिकरण व तालुका के जरिये उन्हें कानून की जानकारी सहज ही मिल रही है जिससे काफी हद तक अपराध व जुर्म पर नियंत्रण भी संभव व निश्चितरूप से देखने को मिल रहा है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button