धन प्राप्ति के सविशेष ऊपाय

आचार्य पं. श्रीकान्त पटैरिया (ज्योतिष विशेषज्ञ) छतरपुर मध्यप्रदेश,

नित्य ज्योतिष वास्तु शास्त्र की चर्चा में आज जानते है ,धन प्राप्ति के सविशेष ऊपाय , जिसे कोई भी जातक अपनी अनुकूलता के हिसाब से अगर करेंगे तो निसंदेह आर्थिक रूप से स्थिति मजबूत होगी ।।

किसी भी प्रकार की समस्या समाधान के लिए सम्पर्क कर सकते हो,
सम्पर्क सूत्र:- 9131366453

तिजोरी में रखें पूजा की सुपारी:-

पूजा की सुपारी पूर्ण एवं अखंडित होती है। इसीलिए इसको पूजा के समय गौरी-गणेश का रूप मानकर उस पर जनेऊ चढ़ाई जाती है। बाद में उस पूजा की सुपारी को तिजोरी में रखना चाहिए क्योंकि जहां गणेशजी यानी बुद्धि के स्वामी का निवास होता है वहीं धन का निवास होता है।।

लक्ष्मी पूजन में सुपारी रखें:-

सुपारी पर लाल धागा लपेटकर अक्षत, कुमकुम, पुष्प आदि पूजन सामग्री से पूजा करें और पूजन के बाद इस सुपारी को तिजोरी में रखें।।

तिजोरी में यह वस्तु रखने से भी लाभ मिलता है, शुक्रवार को पीले कपड़े में ७ कौड़ी और थोड़ी-सी केसर, चांदी के सिक्के के साथ बांधकर तिजोरी या धन रखने के स्थान पर रख दें। उसके साथ थोड़ी हल्दी की गांठें भी रख दें।।

तिजोरी में सामर्थ्य अनुसार नोट की एक गड्डी रखें और कुछ पीतल और तांबें के सिक्के भी रखे। पीले सिक्के होंगे तो वह भी चल जाएंगे। कुछ सिक्के आपकी जेब में भी रखें।।

पीपल का पत्ता:-

एक पीपल का पत्ता लें और उस पर देशी घी में मिश्रित लाल सिंदूर से उसे पर ॐ लिख कर इसे तिजोरी या धन रखने वाले स्थान पर रख दें। ऐसा कम से कम पांच शनिवार करेंगे तो पांच पत्ते हो जाएंगे। इससे धन संबंधी तंगी दूर हो जाएगी।।

कुबेर कौड़ी:-

पुष्य नक्षत्र के दिन शाम के समय लक्ष्मी पूजन करें। पूजन में पुराने चांदी के सिक्के और रुपयों के साथ कुबेर कौड़ी रखकर उनका केसर और हल्दी से पूजन करें। पूजा के बाद इन्हें तिजोरी में रख दें। आपकी तिजोरी हमेशा पैसों से भरी रहेगी।।

दक्षिणावर्ती शंख रखें:-

तंत्र-मंत्र में दक्षिणावर्ती शंख का विशेष महत्व है। इसे घर के पूजा स्थान या तिजोरी में रखने से माता लक्ष्मी स्वत: ही इसकी ओर आकर्षित होती है , रंक को भी राजा बना देती है। ये बहुत ही चमत्कारी उपाय है। सोम-पुष्य योग में इसे घर में रखने सेसुख-समृद्धि बनी रहेगी।।

भोजपत्र:-

अखंडित भोजपत्र पर लाल चंदन को पानी में घोल लें मोर पंख से ‘श्रीं’ लिखें। अब उस भोजपत्र को तिजोरी में रख दें। कुछ ही दिनों में फायदा शुरु हो जाएगा, पैसा बढ़ता चला जाएगा।।

श्री यंत्र स्थापना:-

ऐश्वर्य वृद्धि हेतु श्री यंत्र की स्थापना करें। श्री यंत्र विधि विधान से पूजन करके उसे धन रखने के स्थान पर या तिजोरी में रख दें साथ ही नित्य एक श्री सूक्त का पाठ करे , इससे आपकी तिजोरी कभी भी खाली नहीं रहेगी और धन बढ़ता ही जाएगा।।

काली गुंजा:-

धन-संपदा के लिए तिजोरी के नीचे या तिजोरी के अंदर काली गुंजा के ग्यारह दाने पवित्र करके रखें। धन रखने के स्थान पर या तिजोरी में हमेशा लाल वस्त्र बिछाएं। दूकान में तिजोरी के पास लक्ष्मी गणेश की तस्वीर लगाएं।।

व्यापार में लाभ हेतु:-

एक मोती शंख और चांदी का एक सिक्का रखकर उसे नए लाल कपडे में लाल मौली से बांधकर तिजोरी में रखें, व्यवसाय में लाभ होगा।।

किसी भी शनिवार के दिन नीले कपड़े में २१ दाने रक्त गुंजा के बांधकर तिजोरी में रख दें। अपने इष्टदेव का ध्यान करते हुए हर रोज धूप, दीप अवश्य दिखाएं। ऐसा नियमित करने से व्यापार में लाभ मिलेगा और सफलता भी प्राप्त होगी।।

श्रीफल:-

किसी शुभ मुहूर्त में श्रीफल को लाल कपड़े में रखकर उस पर कामिया सिन्दूर, देशी कपूर तथा साबुत लौंग चढ़ाकर धूप-दीप देकर एवं कुछ दक्षिणा अर्पित करके अपने गल्ले या तिजोरी में रखें। इससे धन में वृद्धि होती चली जाएगी। यदि एक नारियल चमकदार लाल कपड़े में लपेटकर धन रखने के स्थान पर रखा जाए तो शीघ्र ही धन का आगमन होगा।।

विस्तृत जानकारी जन्मपत्रिका विश्लेषण वास्तु दोष निवारण हेतु मुलाकात करे, शास्त्रोक्त विधि विधान से सिद्ध विविध यंत्र रत्न प्राप्त करने हेतु संपर्क करें।।

किसी भी प्रकार की समस्या समाधान के लिए आचार्य पं. श्रीकान्त पटैरिया (ज्योतिष विशेषज्ञ) जी से सीधे संपर्क करें = 9131366453

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button