खेल अनुशासन और जीने की कला है- नेता प्रतिपक्ष धरमलाल

चार दिवसीय 19वीं राज्य स्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता का रंगारंग समापन

मुंगेली: छत्तीसगढ़ विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष और बिल्हा विधानसभा क्षेत्र के विधायक धरमलाल कौशिक ने कहा है कि खेल से अनुशासन की सीख मिलती है और यह जीने की कला है।

खेल से खिलाड़ियों द्वारा पसीना बहाया जाता है पसीना बहाकर उत्कृष्ठ प्रदर्शन करने पर उन्हे उत्कृष्ठ खिलाड़ी का खिताब और मेडल प्राप्त होता है।

कौशिक यहां मुख्य अतिथि की आसंदी से पं. श्यामा प्रसाद मुखर्जी स्टेडियम के प्रांगण में आयोजित चार दिवसीय 19वीं राज्य स्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता के रंगारंग समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे।

इस अवसर पर रामभजन देवांगन के नेतृत्व में खिलाड़ियों ने घोष बैण्ड के धुन के साथ कदम से कदम मिलाते हुए आकर्षक मार्च पास्ट कर मुख्य अतिथि सहित अन्य अतिथियों को सलामी दी।

समापन समारोह की अध्यक्षता मुंगेली क्षेत्र के विधायक पुन्नूलाल मोहले ने की। इस अवसर पर मुख्य अतिथि कौशिक ने विजेता प्रतियोगियों को शील्ड और मेडल प्रदान कर सम्मानित किया। ओव्हर आल प्रतियोगिता में रायपुर जोन को चैम्पियनशीप का खिताब हासिल हुआ।

उल्लेखनीय है कि कबीरधाम जोन की मेजबानी में मुंगेली जिले में चार दिवसीय 19वीं राज्य स्तरीय शालेय क्रीड़ा में बेसबाल, सिलम्बम, आर्म रेसलिंग एवं कराते प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था। जहां बस्तर, बिलासपुर, दुर्ग, जांजगीर, जशपुर, कोण्डागांव, राजनांदगांव, रायपुर जोन के खिलाड़ी भाग ले रहे थे।

नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने समापन समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य में खेलों को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है।

उन्होने कहा कि खेल से अलग पहचान मिलती है। खेल में उत्कृष्ठ प्रदर्शन करने वाले प्रतिभागियों को शील्ड और मेडल प्रदान कर उनका उत्साहवर्धन किया जा रहा है।

उन्होने शिक्षा के साथ-साथ खेल को भी अपने लक्ष्य में शामिल करने की बात कहीं। कौशिक ने कहा कि खेल में उनकी उपस्थिति ही खेल की सार्थकता को दर्शाता है। खिलाड़ियों को हार जीत की चिंता किए बिना खेलना चाहिए। खेल से भाईचारा का रिश्ता मजबूत होता है, सोच का दायरा बढ़ता है।

उन्होने कहा कि खिलाड़ियों को खेल खेलने का एक अच्छा अवसर मिलता है। खिलाड़ियों को इसे चुनौती मानकर उत्कृष्ठ प्रदर्शन कर अपने माता-पिता, समाज, राज्य और देश का नाम रोशन करना चाहिए।

कौशिक ने मीडिया प्रतिनिधियों से कहा कि यहां खेल भावना से खेले गये खेल को दूर-दूर तक पहुंचायेंगे, तभी खेल की सार्थकता साबित होगी। समापन समारोह की अध्यक्षता एवं मुंगेली क्षेत्र के विधायक मोहले ने भी समारोह को संबोधित किया।

उन्होने खिलाड़ियों को अपनी बधाई और शुभकामना दी। उन्होने कहा कि यह प्रसन्नता और खुशी की बात है कि 19वीं राज्य स्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता में मुंगेली जिले में आयोजित 9 खेल जोन के खिलाड़ी भाग लेकर जिले को गौरवांवित किये है।

उन्होने कहा कि खेलों से मानसिक और शारीरिक विकास होता है। उन्होने सभी खिलाड़ियों को दृढ़ इच्छा शक्ति से खेलने और विजयी होकर और आगे बढ़ने की बात कही। जिला पंचायत की अध्यक्ष कृष्णा बघेल ने भी संबोधित किया।

उन्होने कहा कि यह खुशी और गौरव की बात है कि मुंगेली जिले में प्रति वर्ष की भांति इस वर्ष भी राज्य स्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।

उन्होने खिलाड़ियों को अपनी बधाई और शुभकामनाएं देते हुए खिलाड़ियों को खेल के क्षेत्र में बुलंद हौसला के साथ आगे बढ़कर राज्य और देश का नाम रोशन करने की समझाईश दी।

कलेक्टर डाॅ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने भी संबोधित किया। उन्होने कहा कि खिलाड़ियों में प्रतिभा की कमी नहीं है। 9 जोन के खिलाड़ी पूरी प्रतिभा के साथ अलग-अलग परिस्थितियों से आये हुए है। विषम परिस्थितियों को लांघते हुए आगे बढ़े है। उनका यह प्रयास और प्रयत्न हमेशा सफल होंगे।

जिला शिक्षा अधिकारी जीपी भारद्वाज ने खेल और व्यवस्था के संबंध में विस्तारपूर्वक जानकारी दी। इसके पूर्व एस.एल.एस. एकेडमिक स्कूल एवं शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला करही के विद्यार्थियों ने मनोहारी सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुतियां दी। जिसका सभी लोगों द्वारा मुक्त कण्ठ से सराहना की गई।

मुख्य अतिथि ने खेल में उत्कृष्ठ प्रदर्शन करने वाले बालक 14 वर्ष आयु समूह के कराते प्रतियोगिता में दुर्ग जोन को प्रथम, बस्तर जोन को द्वितीय और राजनांदगांव को तृतीय स्थान, बालक 17 वर्ष आयु समूह के कराते प्रतियोगिता में दुर्ग जोन को प्रथम, रायपुर को द्वितीय और कबीरधाम जोन तृतीय, बालक 19 वर्ष आयु समूह के कराते प्रतियोगिता में दुर्ग को प्रथम, रायपुर को द्वितीय और राजनांदगांव को तृतीय स्थान प्राप्त करने पर शील्ड और मेडल प्रदान कर सम्मानित किया।

इसी तरह बालिका 14 वर्ष आयु समूह के कराते प्रतियोगिता में दुर्ग जोन प्रथम, बस्तर जोन द्वितीय एवं कबीरधाम जोन तृतीय, बालिका 17 वर्ष आयु समूह के कराते प्रतियोगिता में दुर्ग जोन प्रथम, राजनांदगांव द्वितीय एवं रायपुर तृतीय, बालिका 19 वर्ष आयु समूह के कराते प्रतियोगिता में रायपुर जोन प्रथम, दुर्ग जोन द्वितीय एवं बस्तर जोन तृतीय स्थान प्राप्त किया।

बालक 14 वर्ष आयु समूह में सिलम्बम प्रतियोगिता में रायपुर प्रथम, कबीरधाम द्वितीय एवं कोण्डागांव तृतीय, बालक 17 वर्ष आयु समूह के सिलम्बम प्रतियोगिता में कबीरधाम प्रथम, कोण्डागांव द्वितीय एवं रायपुर तृतीय, बालक 19 वर्ष आयु समूह के सिलम्बम प्रतियोगिता में रायपुर प्रथम, कबीरधाम द्वितीय एवं दुर्ग तृतीय स्थान प्राप्त किया।

इसी तरह बालिका 14 वर्ष आयु समूह में सिलम्बम प्रतियोगिता में रायपुर जोन प्रथम, कबीरधाम जोन द्वितीय एवं कोण्डागांव जोन तृतीय, बालिका 17 वर्ष आयु समूह में सिलम्बम प्रतियोगिता में रायपुर प्रथम, कबीरधाम द्वितीय एवं कोण्डागांव जोन तृतीय स्थान प्राप्त किया।

बालिका 19 वर्ष आयु समूह में सिलम्बम प्रतियोगिता में कबीरधाम जोन प्रथम, रायपुर जोन द्वितीय एवं राजनांगांव जोन को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ। इसी क्रम में आर्म रेसलिंग प्रतियोगिता में बालक 19 वर्ष में दुर्ग जोन प्रथम, कबीरधाम जोन द्वितीय एवं रायपुर जोन तृतीय, बालिका 19 वर्ष में कबीरधाम जोन प्रथम, जशपुर जोन द्वितीय एवं रायपुर जोन को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ।

बेसबाल बालक 17 वर्ष आयु समूह के प्रतियोगिता में बिलासपुर जोन प्रथम, बस्तर जोन द्वितीय एवं कबीरधाम जोन तृतीय, बालिका 17 वर्ष में बिलासपुर जोन प्रथम, कबीरधाम जोन द्वितीय एवं जशपुर जोन को तृतीय स्थान प्राप्त करने पर मुख्य अतिथि ने विजेता प्रतिभागियों को शील्ड और मेडल प्रदान कर सम्मानित किया।

इस अवसर पर जिला पंचायत के उपाध्यक्ष शत्रुहन सोनू चंद्राकर, जिला पंचायत सदस्य द्वय जागेश्वरी वर्मा, उर्मिला यादव, रेखचंद कोसले, जिले के पुलिस अधीक्षक सीडी टंडन सहित जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक, खेल प्रेमी और खिलाड़ी, कोच प्रभारी एवं विभिन्न मीडिया के प्रतिनिधिगण मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन अशोक सोनी ने किया।

Back to top button