खेल

पहले जैसी नहीं रहेगी महेंद्र सिंह धोनी की बल्लेबाजी

पहले जैसी नहीं रहेगी दुनिया के सबसे बड़े फिनिशर महेंद्र सिंह धोनी की बल्लेबाजी|धोनी को अपनी बल्लेबाजी में करना बदलाव करना होगा| धोनी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखने के साथ ही हैवी बैट से बल्लेबाजी करते आ रहे हैं| लेकिन अब धोनी भारी बल्ले से बल्लेबाजी नहीं कर पाएंगे| धोनी को अपने शॉट सेलेक्शन में फिर ध्यान देना होगा, जिसके लिए उन्हें नेट्स पर पसीना बहाना पड़ेगा|

बदलनी होगी बल्लेबाजी

महेंद्र सिंह धोनी जब बल्लेबाजी के लिए मैदान पर उतरते हैं तो बड़े-बड़े गेंदबाज उनके सामने गेंद डालते से घबराते हैं|धोनी का हेलीकॉप्टर शॉट ने दुनियाभर के गेंदबाजों में खौफ पैदा कर रखा है| लेकिन धोनी जिस बैट से लंबे-लंबे छक्के मारा करते थे, अब वो बैट उनका साथ छोड़ देगा| जी हां,एक अक्टूबर से लागू हो रहे क्रिकेट के नए के नियमों के मुताबिक बल्ले की मोटाई अब 40 मिलीमीटर से ज्यादा नहीं हो सकती है|

बल्ले की मोटाई 40 मिलीमीटर से ज्यादा नहीं हो सकती

धोनी के अलावा दुनिया में कई ऐसे बल्लेबाज हैं, जो भारी बल्ले का इस्तेमाल करते हैं| डेविड वॉर्नर क्रिस गेल और पोलार्ड हैं जो क्रिकेट के मैदान पर बड़े शॉट्स लगाने के लिए जाने जाते हैं| उन्हें भी अपना बल्ला बदला होगा| इन बल्लेबाजों के बल्ला और खासतौर से उसका निचले हिस्से की चौड़ाई 40 मिमी से ज्यादा है|

धोनी,वार्नर और पोलार्ड के बल्लों की चौड़ाई सबसे ज्यादा है

महेंद्र सिंह धोनी के बल्ले की चौड़ाई 45 मिमी से ज्यादा है| वहीं ऑस्ट्रेलिया के डेविड वॉर्नर 50 मिमी चौड़ाई के बल्ले से खेलते हैं| इससे उन्हें गेंदबाजों पह हमला बोलने का मौका मिलता है| खास तौर पर खेल के छोटे प्रारूप में वे ज्यादा खतरनाक हो जाते हैं|नए नियम के लागू हो जाने के बाद हर किसी की निगाहें इन बल्लेबाजों पर होगी|

Tags
Back to top button