टीवीमनोरंजन

श्रीसंत बोले – कितना संघर्ष करके भारतीय क्रिकेट टीम में पंहुचा था मै!

घर में हर सदस्य एक-दूसरे पर भारी पड़ रहा है. श्रीसंत ने कहा- मैं जब स्कूल में था, तब सुबह साढ़े 4 बजे 16 किलोमीटर साइकिल चलाकर ग्राउंड में प्रैक्टिस करने जाता था.

बिग बॉस 12:

इसके बाद वहां से कपड़े चेंज करके स्कूल जाता था. वहां से साढ़े तीन बजे फ्री होकर वापस ग्राउंड पर प्रैक्टिस करता था. रात में स्विमिंग पूल जाता था. फिर 16 किमी साइकिल चलाकर घर जाता था और होमवर्क करता था.

श्रीसंत ने कहा- 2004 में मैं केरल रणजी टीम से बाहर हो गया था. मेरे पास रूम रेंट के पैसे देने के लिए नहीं थे. इस दौरान मुनफ पटेल ने मेरा हौसला बढ़ाया. श्रीसंत बोले- फरवरी 2005 में मैं रेंट नहीं दे सकता था और अक्टूबर 2005 में मेरे पास 25 लाख रुपए थे.

श्रीसंत ने कहा कि इतना संघर्ष करने के बाद भी कभी लगातार टीम में उनका सिलेक्शन नहीं हुआ. उन्होंने कहा कि संघर्ष के दिनों में उन्हें एक मैच के एक हजार रुपए मिलते थे. साल के सिर्फ 15 हजार रुपए उन्हें मिलते थे. बता दें कि गुरुवार को न्यूमेरोलॉजिस्ट संजय जुमानी बिग बॉस के घर पहुंचे. उन्होंने सभी कंटेस्टेंट्स का भविष्य बताया.

श्रीसंत और रोमिल चौधरी दिमाग से खेलने के मामले में सबसे आगे हैं. श्रीसंत को शुक्रवार को करणवीर का बार-बार उन्हें ईगोइस्ट बताना नागवार गुजरा. जवाब में उन्होंने मेघा अौर रोहित के सामने बताया कि वे कितना संघर्ष करके भारतीय क्रिकेट टीम में पहुंचे थे.

जानिए श्रीसंत के बारे में उन्होंने क्या कहा…

न्यूमेरोलॉजिस्ट संजय जुमानी ने श्रीसंत के बारे में कहा कि उन्हें इस साल कोई बड़ी गुड न्यूज मिलेगी. इसके बाद श्रीसंत ने पूछा कि उनका इंटरनेशनल क्रिकेट में आगे क्या भविष्य है. इसके जवाब में जुमानी ने कहा- वे क्रिकेट की बजाय क्रिएटिव फील्ड पर फोकस करें. बता दें कि श्रीसंत पिछले 7-8 सालों से भारतीय क्रिकेट टीम से बाहर चल रहे हैं.

जुमानी ने जसलीन, मेघा, सृष्टि, सोमी और सुरभि का भी भविष्य बताया. शिवाशीष से कहा कि वे बहुत स्ट्रॉन्ग हैं. दीपिका के बारे में कहा कि वे इस साल की हेडलाइन बनेंगी.

Summary
Review Date
Reviewed Item
श्रीसंत बोले - कितना संघर्ष करके भारतीय क्रिकेट टीम में पंहुचा था मै!
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags
advt