राम मंदिर: मध्यस्थता को तैयार श्री श्री रविशंकर, कहा- लोग अब शांति चाहते हैं

राम मंदिर के मसले पर आध्यत्मिक गुरू श्री श्री रविशंकर ने कहा है कि वो इस मसले पर मध्यस्ता करने को तैयार हैं, लेकिन फिल्हाल इस मसले पर कोई पहल नहीं कर सके हैं।

श्री श्री रविशंकर ने कहा कि अब वक्त बदल चुका है लोग शांति चाहते हैं। एक ऐसे मंच की जरूरत जहां दोनों समुदाय के लोग अपना भाईचारा दिखा सकें।

आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक रविशंकर ने कहा कि ऐसे कोशिश साल 2003-2004 में भी की गई थी लेकिन अब माहौल ज्यादा सकारात्मक हो गया है। इसके साथ ही उन्होंने साफ किया कि यह प्रयास वह खुद कर रहे हैं और यह पूरी तरह अराजनीतिक है।

खबरों की मानें तो रविशंकर ने का कहना है कि कुछ लोग उनसे मिले हैं। सभी लोग सकारात्मक ऊर्जा के साथ आए थे और लोग इस मसले का हल चाहते हैं। अगर मुझे मध्यस्थ बनने की जरूरत पड़ी तो मैं इसके लिए तैयार हूं।

रविशंकर से निर्मोही अखाड़ा और ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के कुछ सदस्य मिले हैं। उन्होंने आध्यात्मिक गुरु से यह अनुरोध किया है कि वह दोनों समुदायों के बीच लंबे समय से विवाद का विषय बने इस मसले को हल करने के लिए ‘मध्यस्थता’ करें।

advt
Back to top button